मुझे दो अलग-अलग दौर के खिलाड़ियों की तुलना पसंद नहीं है जब खेलने के नियम अलग थे और पिच भी ऐसी नहीं थीं : तेंदुलकर

Samachar Jagat | Tuesday, 04 Jun 2019 04:19:19 PM
I do not like comparison of two different round players  Tendulkar

साउथम्पटन। चैम्पियन क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर का मानना है कि जसप्रीत बुमराह की अगुवाई में भारतीय आक्रमण इस दौर में सबसे मुकम्मल है लेकिन इसकी तुलना 2003 और 2011 के गेंदबाजों से नहीं की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि इन गेंदबाजों की तुलना इसी दौर के गेंदबाजों से होनी चाहिए।  1992 और 2011 के बीच छह विश्व कप खेल चुके तेंदुलकर ने कपिल देव, जवागल श्रीनाथ और जहीर खान की अगुवाई वाले तेज आक्रमण को करीब से देखा है। उन्होंने कहा कि अलग—अलग दौर के खिलाड़ियों की तुलना बेमानी है । उन्होंने प्रेस ट्रस्ट से कहा, मुझे दो अलग-अलग दौर के खिलाड़ियों की तुलना पसंद नहीं है जब खेलने के नियम अलग थे और पिचें भी ऐसी नहीं थीं।

Rawat Public School

इस ICC विश्व कप में हार्दिक पंड्या भारत के लिए वही भूमिका निभा सकते हैं जैसी 2011 में युवराज सिंह ने निभाई थी :मैकग्रा

उन्होंने कहा, अब दो नई गेंद होती हैं और क्षेत्ररक्षण की पाबंदियां भी हैं यानी 11वें से 40वें ओवर के बीच 30 गज के बाहर चार फील्डर और आखिरी दस ओवर में पांच होते हैं। इसके मायने हैं कि 100 मीटर के धावक अब नए नियमों के तहत 90 मीटर या 80 मीटर दौड़ रहे हैं । तेंदुलकर ने कहा, गेंदबाजों के लिए भी मुश्किल है क्योंकि रिवर्स स्विंग नहीं मिलती। यदि आप मौजूदा भारतीय आक्रमण की तुलना करना चाहते हैं तो इस पीढी के गेंदबाजों से ही करें। इस दौर में यह बहुत अच्छा आक्रमण है। उन्होंने कहा, मैं 2003 और 2011 विश्व कप में हमारे गेंदबाजों के प्रदर्शन की भी तारीफ करूंगा। 2003 में श्रीनाथ, जहीर, नेहरा और हरभजन थे जो हमें फाइनल तक ले गए। वहीं 2011 में जहीर, नेहरा, हरभजन, मुनाफ पटेल और युवराज सिंह ने उम्दा गेंदबाजी की।

भारत घरेलू सत्र में खेलेगा 5 टेस्ट, 9 वनडे और 12 ट्वेंटी-20

तेंदुलकर ने कहा, मौजूदा आक्रमण की सबसे अच्छी बात यह है कि यह इस दौर का सबसे मुकम्मल आक्रमण है। बुमराह इस प्रारूप में दुनिया का नंबर एक गेंदबाज है और हमेशा विकेट लेता है। उन्होंने कहा, इसके अलावा कलाई के स्पिनर कुलदीप और चहल भी बीच के ओवरों में मिलकर अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। -एजेंसी

पाकिस्तान की विस्फोटक वापसी, इंग्लैंड को दिया झटका



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.