अगर खिलाडिय़ों का सर्वश्रेष्ठ निकलता है तो गुस्सा बुरा नहीं: कार्तिक

Samachar Jagat | Saturday, 04 May 2019 01:20:44 PM
If the best of the players comes out then the anger is not bad: Karthik

मोहाली।  कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान दिनेश कार्तिक मैदान पर हुई गलतियों के लिये आपा नहीं खोते लेकिन अगर गुस्से के बाद उनके खिलाड़ी सर्वश्रेष्ठ करते हैं तो उन्हें इससे कोई गुरेज नहीं। 

Rawat Public School

शुक्रवार को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मुकाबले में कार्तिक पारी में ब्रेक के दौरान अपना आपा खो बैठे क्योंकि उनके गेंदबाज और क्षेत्ररक्षक उनकी योजना का उचित तरीके से कार्यान्वयन नहीं कर पा रहे थे। जब उनसे इस गुस्से के बारे में पूछा गया तो केकेआर के कप्तान ने स्वीकार किया कि वह अपने गेंदबाजों और क्षेत्ररक्षकों से खुश नहीं थे। 

उन्होंने कहा पिछले कुछ दिन काफी मुश्किल रहे हैं। गेंदबाज और क्षेत्ररक्षक जो कर रहे थे, मैं उससे खुश नहीं था इसलिये मैंने सोचा कि लडक़ों को पता चलना चाहिए कि मैं उस समय क्या महसूस कर रहा था। यह कभी कभार होता है, मुझे लोगों ने गुस्से में नहीं देखा होगा। अगर मुझे लगता है कि खिलाडिय़ों का सर्वश्रेष्ठ कराने के लिये मुझे गुस्सा करने की जरूरत है तो शायद मैं ऐसा करूंगा। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.