भारत हमेशा रोहित और कोहली पर निर्भर नहीं रह सकता, अन्य को जिम्मेदारी लेनी होगी: तेंदुलकर

Samachar Jagat | Thursday, 11 Jul 2019 11:16:09 AM
India can not always depend on Rohit and Kohli, others have to take responsibility: Tendulkar

मैनचेस्टर। महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व कप सेमीफाइनल में महेंद्र सिंह धोनी और रविंद्र जडेजा के जुझारूपन की सराहना की लेकिन साथ ही कहा कि भारतीय बल्लेबाजी नतीजे के लिए हमेशा अपने शीर्ष क्रम पर निर्भर नहीं रह सकती।

निराश दिख रहे तेंदुलकर ने कहा कि भारतीय बल्लेबाजों ने 240 रन के लक्ष्य को काफी बड़ा बना दिया। न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 रन की हार के साथ भारत विश्व कप से बाहर हो गया। तेंदुलकर ने कहा, ‘‘मैं निराश हूं क्योंकि हमें बिना किसी संदेह के 240 रन का लक्ष्य हासिल करना चाहिए था। यह बड़ा स्कोर नहीं था। हां, न्यूजीलैंड ने शुरुआत में ही तीन विकेट चटकाकर स्वप्निल शुरुआत की।

इस पूर्व बल्लेबाज ने ‘इंडिया टुडे’ से कहा, ‘‘लेकिन मुझे लगता है कि हमें अच्छी शुरुआत के लिए हमेशा रोहित शर्मा या ठोस आधार तैयार करने के लिए विराट कोहली पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। उनके साथ खेल रहे खिलाडिय़ों को भी अधिक जिम्मेदारी लेनी होगी।’’भारतीय गेंदबाजों ने न्यूजीलैंड को आठ विकेट पर 239 रन पर रोक दिया था जिसके बाद टूर्नामेंट में पहली बार भारत का प्रतिष्ठित शीर्ष क्रम नाकाम रहा और विराट कोहली की टीम 49 .3 ओवर में 221 रन पर आउट हो गई।

भारतीय टीम एक समय 92 रन पर छह विकेट गंवाने के बाद करारी हार की ओर बढ़ रही थी लेकिन धोनी (50) और जडेजा (77) ने सातवें विकेट के लिए 116 रन जोडक़र टीम को मुकाबले में बनाए रखा। तेंदुलकर ने कहा, ‘‘यह सही नहीं है कि हर बार धोनी से मैच को फिनिश करने की उम्मीद की जाए। वह बार बार ऐसा करता आया है। 

भारत के मध्यक्रम के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि धोनी और जडेजा भले ही मैच को खत्म नहीं कर पाए लेकिन वे शानदार थे। लक्ष्मण ने ट्वीट किया, ‘‘केन विलियमसन और न्यूजीलैंड को लगातार दूसरे विश्व कप फाइनल में जगह बनाने की बधाई। रविंद्र जडेजा ने धोनी के साथ मिलकर शानदार संघर्ष किया और भारत को इतना करीब ले गए लेकिन न्यूजीलैंड ने नई गेंद से बेहतरीन गेंदबाजी की और यह निर्णायक रहा।

पूर्व भारतीय आफ स्पिनर हरभजन भसह ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘दिल टूट गया। न्यूजीलैंड को बधाई। बेहतरीन प्रदर्शन किया जडेजा।’’सुरेश रैना का मानना है कि विश्व कप से बाहर होने के बावजूद भारत ने टूर्नामेंट में अपने प्रदर्शन से लाखों दिल जीते।

रैना ने ट्वीट किया, ‘‘लडक़ों भाग्य ने साथ नहीं दिया। अच्छा खेले। टूर्नामेंट के दौरान अपने प्रदर्शन से आपने दिल जीते। न्यूजीलैंड को बधाई। क्रिकेटर से कमेंटेटर बने संजय मांजरेकर ने लिखा, ‘‘मेरी नजरों में भारत चैंपियन टीम से कम नहीं। सात मैच जीते दो हारे। अंतिम मैच काफी करीबी रहा। अच्छा काम किया भारत। 

आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने विलियमसन की कप्तानी की तारीफ की। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘बधाई हो, शानदार जीत। केन विलियमसन की शानदार कप्तानी। टीम इंडिया दुर्भाग्यशाली रही। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने ट्वीट किया, ‘‘मैनचेस्टर में हैरान करने वाला नतीजा। मैंने इंग्लैंड-भारत फाइनल की भविष्यवाणी की थी लेकिन न्यूजीलैंड ने शानदार प्रदर्शन किया, भारत के इस बल्लेबाजी क्रम को इतने कम स्कोर पर रोकना अविश्वसनीय प्रयास है। जडेजा के लिए शानदार मैच, भारत दुर्भाग्यशाली रहा। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.