भारत इससे ज्यादा अभ्यास नहीं कर सकता, सप्ताह में दस दिन नहीं होते: बेलिस

Samachar Jagat | Tuesday, 14 Aug 2018 01:28:25 PM
India can not practice much more than ten days in a week: Balis

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

लंदन। इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस ने मौजूदा टेस्ट श्रृंखला में भारत की तैयारियों की आलोचना पर बचाव करते हुए कहा है कि खराब फार्म से जूझ रही मेहमान टीम इससे ज्यादा अभ्यास नहीं कर सकती थी। 

भारत पांच मैचों की श्रृंखला में 0 . 2 से पीछे है। तीसरा टेस्ट शनिवार से नाभटघम में खेला जायेगा। बेलिस ने पत्रकारों से कहा आस्ट्रेलिया, भारत और इंग्लैंड जैसी टीमें काफी क्रिकेट खेलती हैं। मुझे यकीन है कि हर कोई अधिक अभ्यास मैच खेलना चाहता है लेकिन यह संभव नहीं है।

उन्होंने कहा खिलाडिय़ों को आराम की भी जरूरत होती है। अधिकांश खिलाड़ी सारे मैच ही खेलेंगे लेकिन इसमें अधिक अभ्यास मैच डालने की गुंजाइश नहीं है।

भारत ने श्रृंखला से पहले एक ही अभ्यास मैच खेला। पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने इसकी आलोचना करते हुए कहा था कि टीम को और अभ्यास मैच खेलने चाहिये थे।

बेलिस ने कहा हम अभ्यास मैच खेलते हैं जितने होते हैं। इसके बाद सवाल पूछे जाते हैं कि क्या तैयारी सही थी। हम और अभ्यास मैच खेलना पसंद करते लेकिन सप्ताह में दस दिन नहीं होते।

इंग्लैंड के प्रदर्शन पर कोच ने कहा कि वह अब तक खेल के हर पहलू से संतुष्ट हैं। उन्होंने कहा पहले टेस्ट में मुकाबला रोचक था लेकिन दूसरे में हमने दबाव बनाया और कायम रखा।

बेलिस ने क्रिस वोक्स की तारीफ की जिसने दूसरे टेस्ट में बल्ले और गेंद दोनों से अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा वोक्स की टीम में काफी इज्जत है। उसने गेंद और बल्ले से पिछले कुछ साल में काफी मेहनत की है। वह उन खिलाडिय़ों में से है जो सचमुच अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि वोक्स टीम में जेम्स एंडरसन की जगह ले सकते हैं लेकिन अभी एंडरसन अगले तीन चार साल और खेल सकते हैं। उन्होंने कहा जिम्मी इस तरह के हालात में दुनिया का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज है। उसे इन हालात में खेलना किसी भी बल्लेबाज की असल परीक्षा है। मुझे नहीं लगता कि अगले तीन चार साल वह रिटायर होगा। जब तक वह फिट है खेल सकता है।
एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.