भारत तीसरा टेस्ट जीतने से महज सात विकेट दूर

Samachar Jagat | Tuesday, 05 Dec 2017 05:58:56 PM
India is only seven wickets away from winning third Test with Sri Lanka

नई दिल्ली। शीर्ष क्रम के तीन बल्लेबाजों के आकर्षक अर्धशतकों के बाद रविंद्र जडेजा के दो विकेटों से भारत ने श्रीलंका के खिलाफ तीसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच के चौथे दिन आज यहां जीत की तरफ मजबूत कदम बढ़ाए। भारत ने श्रीलंका के सामने 410 रन का रिकॉर्ड लक्ष्य रखा जिसके जवाब में मेहमान टीम चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक तीन विकेट पर 31 रन बनाकर संघर्ष कर रही है। खराब रोशनी के कारण फिरोजशाह कोटला मैदान पर दिन का खेल 13 ओवर पहले खत्म किए जाने पर धनंजय डिसिल्वा 13 रन बनाकर खेल रहे थे जबकि एंजेलो मैथ्यूज उनका साथ निभा रहे हैं जिन्होंने अभी खाता नहीं खोला है।

श्रीलंका ने दूसरी पारी में सलामी बल्लेबाजों सदीरा समरविक्रम (05) और दिमुथ करूणारत्ने (13) के अलावा रात्रि प्रहरी सुरंगा लकमल (00) के विकेट गंवाए। समरविक्रम का मोहम्मद शमी (आठ रन पर एक विकेट) की गेंद पर स्लिप में अजिंक्य रहाणे ने आसान कैच लपका जबकि करूणारत्ने ने रविंद्र जडेजा (पांच रन पर दो विकेट) की गेंद पर विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को कैच थमाया। जडेजा ने इसके बाद लकमल को भी बोल्ड किया। श्रीलंकाई टीम को जीत के लिए अब भी 379 रन जबकि भारत को सात विकेट की दरकार है।

पहली पारी में 163 रन की बढ़त हासिल करने वाले भारत ने अपना 32वां जन्मदिन मना रहे सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (67), कप्तान विराट कोहली (50), रोहित शर्मा (नाबाद 50) और चेतेश्वर पुजारा (49) की उम्दा बल्लेबाजी से दूसरी पारी पांच विकेट पर 246 रन बनाकर घोषित की। फिरोजशाह कोटला पर कोई टीम कभी चौथी पारी में 364 से ज्यादा रन नहीं बना पाई है। भारत ने दिसंबर 1979 में पाकिस्तान के खिलाफ छह विकेट पर 364 रन बनाए थे और यह मैच ड्रा छूटा था।

इस मैदान पर सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का रिकॉर्ड भारत और वेस्टइंडीज के नाम दर्ज है जिन्होंने एक दूसरे के खिलाफ 276 रन के लक्ष्य को हासिल करते हुए समान पांच विकेट पर 276 रन बनाकर पांच-पांच विकेट से जीत दर्ज की थी। वेस्टइंडीज ने नवंबर 1987 जबकि भारत ने नवंबर 2011 में यह लक्ष्य हासिल किया। सुबह श्रीलंका की टीम पहली पारी में 373 रन पर सिमट गई जिससे भारत ने 163 रन की बढ़त हासिल की। श्रीलंका की तरफ से कप्तान दिनेश चांदीमल ने करियर की सर्वश्रेष्ठ 164 रन की पारी खेली जबकि कल एंजेलो मैथ्यूज ने 111 रन बनाए थे।

भारत की ओर से रविचंद्रन अश्विन (90 रन पर तीन विकेट) और इशांत शर्मा (98 रन पर तीन विकेट) ने तीन-तीन जबकि मोहम्मद शमी (85 रन पर दो विकेट) और रविंद्र जडेजा (86 रन पर दो विकेट) ने दो-दो विकेट चटकाए। दूसरी पारी में भारत की शुरूआत खराब रही। मुरली विजय (09) ने सुरंगा लकमल के पारी के पहले ओवर में लगातार दो चौके मारे लेकिन इस तेज गेंदबाज के अगले ओवर में ऑफ साइड से बाहर की गेंद से छेड़छाड़ की कोशिश में विकेटकीपर निरोशन डिकवेला को कैच दे बैठे।

खराब फार्म से जूझ रहे रहाणे को टीम प्रबंधन ने तीसरे नंबर पर भेजा लेकिन वह सिर्फ 10 रन बनाने के बाद ऑफ स्पिनर दिलरूवान परेरा की गेंद को उठाकर मारने की कोशिश में लांग आन पर लक्षण संदाकन को कैच दे बैठे। मौजूद श्रृंखला में वह 4, 0, 2, 1 और 10 रन की पारियां खेलकर सिर्फ 17 रन बना पाए।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.