इस कारण सेंचुरियन में भी आसान नहीं भारत की राह

Samachar Jagat | Thursday, 11 Jan 2018 04:49:21 PM
India way is not easy because of this in Centurion

सेंचुरियन। केपटाउन में पहला टेस्ट हार चुकी विश्व की नंबर एक भारतीय टीम के लिए सेंचुरियन मैदान में दूसरे टेस्ट में वापसी करना बहुत मुश्किल होगा क्योंकि इस मैदान में मेजबान टीम का सिक्का जमकर चलता है।

इस मैदान पर पिछले तीन मैचों में मेजबान टीम ने विरोधी टीमों को बुरी तरह से हराया है। इसे देखते हुए तो भारत की राह आसान नहीं है। भारत ने इस मैदान पर मात्र एक टेस्ट खेला है जो 16 से 20 दिसंबर 2010 तक खेला गया था जिसमें भारत को पारी और 25 रन से हार का सामना करना पड़ा। उस मैच में भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे। वीरेंद्र सहवाग, राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण, गौतम गंभीर और सुरेश रैना जैसे दिग्गज बल्लेबाजों से सजी भारतीय टीम पहली पारी में मात्र 38.4 ओवर में 136 रन पर लुढक़ गई थी।

सचिन ने सबसे ज्यादा 36 रन बनाए थे जिसके बाद धोनी ने 33 और हरभजन सिंह ने 27 रन बनाए। दक्षिण अफ्रीका ने हाशिम अमला के 140, जैक्स कालिस के नाबाद 201 और ए बी डीविलियर्स के 129 रन से चार विकेट पर 620 रन बनाकर अपनी पारी घोषित की। भारतीय टीम ने दूसरी पारी में सराहनीय संघर्ष किया और 459 रन बनाए। सचिन 111 रन बनाकर नाबाद रहे। गंभीर ने 80, सहवाग ने 63, द्रविड़ ने 43 और कप्तान धोनी ने 90 रन बनाए। दूसरी पारी के संघर्ष के बावजूद भारत को पारी से हार का सामना करना पड़ा।

पहला टेस्ट हार जाने के बाद दूसरे टेस्ट में वापसी करना भारतीय खिलाडिय़ों के लिए टेढ़ी खीर साबित होगा। इस मैदान पर भी तेज गेंदबाजों का सिक्का चलता है। दिसंबर 2010 के टेस्ट में मोर्न मोर्कल ने दोनों पारियों में सात विकेट और डेल स्टेन ने सात विकेट लिए थे। पहले टेस्ट में भारतीय बल्लेबाजों ने दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजों के सामने घुटने टेक दिए थे और दूसरे टेस्ट के लिए दक्षिण अफ्रीका के कोच ओटिस गिब्सन ने भी कहा है कि इस मैच में भी चार तेज गेंदबाजों के साथ भारतीयों पर हमला बोला जाएगा।

दक्षिण अफ्रीका ने सेंचुरियन मैदान में नवंबर 1995 में इंग्लैंड से पहला टेस्ट खेला था जो ड्रॉ रहा था। इस मैदान पर अब तक 22 टेस्ट खेले गए हैं जिनमें से दक्षिण अफ्रीका ने 17 टेस्ट जीते हैं, तीन टेस्ट ड्रॉ खेले हैं और सिर्फ दो टेस्ट गंवाए हैं। दक्षिण अफ्रीका को सेंचुरियन में जनवरी 2000 में इंग्लैंड ने दो विकेट से और फरवरी 2014 में ऑस्ट्रेलिया ने 281 रन से हराया था।

इस मैदान पर दक्षिण अफ्रीका ने अपने पिछले तीन टेस्टों में वेस्टइंडीज को पारी और 220 रन से, इंग्लैंड को 280 रन से और न्यूजीलैंड को 204 रन से हराया। दक्षिण अफ्रीका के इस रिकॉर्ड को देखते हुए भारतीयों को अपना 200 प्रतिशत प्रदर्शन करना होगा तभी जाकर वे सीरीज में बराबरी की उम्मीद कर पाएंगे।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.