इतनी ज्यादा संवेदना भारतीय क्रिकेट की अनोखी बात: जोंटी रोड्स

Samachar Jagat | Thursday, 16 Aug 2018 04:48:51 PM
Jonty rhodes said such a condolences is the unique thing of Indian cricket

मुंबई। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व खिलाड़ी जोंटी रोड्स ने गुरुवार को कहा है कि पूर्व भारतीय कप्तान अजित वाडेकर के निधन पर इतनी ज्यादा संवेदना संदेश भारतीय क्रिकेट की अनोखी बात है। एक कंपनी के ब्रांड दूत के रूप में यहां पहुंचे रोड्स ने कहा कि विदेशी सरजमीं पर भारत को टेस्ट मैचों में जीत दिलाने वाले अजित वाडेकर क्रिकेट में बड़े बदलाव लाने वालों में थे। उनके निधन पर शोक संदेशों की हुई बौछार भारतीय क्रिकेट की अनोखी बात है जो एक समुदाय की तरह है। ऐसा कहीं और नहीं होता।

जोंटी रोड्स बने इसूजू मोटर्स इंडिया के ब्रांड अंबेसडर

भारत को 1971 में इंग्लैंड और वेस्टइंडीज में जीत दिलाने वाले वाडेकर का लंबी बीमारी के बाद बुधवार को मुंबई में 77 बरस की उम्र में निधन हो गया। आईपीएल के तीन बार की चैम्पियन मुंबई इंडियन्स टीम के क्षेत्ररक्षण कोच रहे रोड्स ने कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में भारतीय टीम को भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की कमी खल रही है जिन्होंने उनके देश दक्षिण अफ्रीका में शानदार प्रदर्शन किया था।

मैदान पर करिश्माई कप्तान और मैदान के बाहर 'परफेक्ट जेंटलमैन’ थे वाडेकर

 भारतीय टीम पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला में इंग्लैंड से 0-2 से पिछड़ रही है और टीम ने विदेशी सरजमीं पर स्लिप में कई कैच टपकाए हैं। क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ क्षेत्ररक्षकों में एक माने जाने वाले इस पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि स्लिप में कैच के मामले में भी भारतीय हालात और दक्षिण अफ्रीका तथा इंग्लैंड के हालात में थोड़ा अंतर होता है।

एशियाई खेलों में भारत की प्रबल पदक उम्मीदों पर एक नजर

उन्होंने कहा कि भारत में स्लिप में कैच के लिए गेंद घुटने के नीचे आती है और कैच पकडऩे के लिए अंगुली जमीन की तरफ होनी चाहिए। इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में परिस्थिति ठीक इसके उलट होती है (गेंद घुटने से ऊपर आती है और अंगुली ऊपर की तरफ होनी चाहिए)। छह सप्ताह में आप आदत नहीं बदल सकते। दक्षिण अफ्रीका के लिए 52 टेस्ट और 245 एकदिवसीय खेलने वाले इस खिलाड़ी ने कहा कि आईपीएल के कारण भारतीय टीम के क्षेत्ररक्षण का स्तर सुधरा है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.