शाहरूख, रहमान और गुलजार होंगे विश्व कप हॉकी उद्घाटन समारोह का आकर्षण

Samachar Jagat | Friday, 12 Oct 2018 07:48:51 PM
Shahrukh, Rehman and Gulzar will be the highlight of World Cup hockey opening ceremony

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

भुवनेश्वर। 'चक दे इंडिया’ फ़ेम सुपरस्टार शाहरूख खान, आॅस्कर पुरस्कार विजेता संगीतकार एआर रहमान और गीतकार गुलजार यहां 28 नवंबर को विश्व कप हॉकी के उद्घाटन समारोह में आकर्षण का केंद्र होंगे जिसमें ओडिशा की संस्कृति की बानगी भी देखने को मिलेगी। हॉकी के नए गढ़ बने भुवनेश्वर में चैम्पियंस ट्रॉफी (2014) , एफआईएच विश्व लीग फाइनल्स (2017) के बाद अब 28 नवंबर से 16 दिसंबर तक विश्व कप का आयोजन किया जाएगा, जिसमें दुनिया की 16 टीमें भाग ले रही हैं । 

ओडिशा सरकार के खेल और पर्यटन विभाग के सचिव विशाल देव ने भाषा को बताया कि उद्घाटन समारोह में शाहरूख खान नाच गाना नहीं बल्कि दुनिया को ओडिशा से रूबरू कराके यहां सभी का स्वागत करेंगे। उनके अलावा गुलजार और ए आर रहमान भी समारोह का आकर्षण होंगे जिन्होंने विश्व कप का थीम गीत बनाया है। इनके अलावा एक और बड़े कलाकार से बात हो रही है।

देव ने ये भी बताया कि ओडिशा ने अपनी गरीब और पिछड़े राज्य की छवि को तोड़कर कई बड़े खेल टूर्नामेंटों का सफल आयोजन किया है और विश्व कप से पहले बुनियादी ढांचे को और बेहतर बनाकर इसे नए सिरे से संवारा जाएगा। उन्होंने कहा कि विश्व कप से पहले कला और साहित्य महोत्सव का आयोजन किया जाएगा, जिसमें दुनिया के मशहूर गायक, नर्तक और किस्सागो भाग लेंगे।

इसके अलावा शहर में 250 नई बसें चलाई जाएगी, जिनमें होहो बसें शामिल हैं। फूड पार्क, हॉकी अड्डा बनेंगे और भुवनेश्वर के आसपास तमाम पर्यटन स्थलों जैसे पुरी, कोणार्क का बुनियादी ढांचा बेहतर किया जा रहा है। विश्व कप के सारे मैच कलिगा स्टेडियम पर खेले जाएंगे, जिसे नए सिरे से तैयार किया गया है। देव ने बताया कि स्टेडियम को नए सिरे से तैयार करने में करीब 82 करोड़ रूपए खर्च किये गए हैं।

दो नयी उत्तर और दक्षिण दीर्घायें बनाई गई हैं। 2 नए गेट बनाए गए हैं ताकि दर्शकों को प्रवेश में दिक्कत ना हो। स्टेडियम की क्षमता 7500 से बढाकर 15000 कर दी गई है। रिहायशी सुविधा बेहतर की गई है और एक नवंबर से टीम का शिविर यहीं लगेगा। भावी योजनाओं के बारे में देव ने बताया कि भुवनेश्वर में हाकी के अलावा एथलेटिक्स और बैडमिंटन की अत्याधुनिक अकादमियां स्थापित की जाएंगी।

उन्होंने बताया कि इसके लिए अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स संघ और भारतीय एथलेटिक्स महासंघ से सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए जा चुके हैं। भुवनेश्वर में गत वर्ष एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप का भी सफल आयोजन किया गया था। पहले ये चैम्पियनशिप रांची में होनी थी लेकिन उसके हाथ खींचने के बाद 90 दिन के भीतर भुवनेश्वर ने मेजबानी की तैयारी की थी।

उन्होंने कहा कि बैडमिंटन अकादमी का संचालन पुलेला गोपीचंद करेंगे जबकि एथलेटिक्स अकादमी अगले 2 माह में शुरू हो जाएगी। इन अकादमियों में देश भर से बच्चों का चयन किया जाएगा। इन्हें मशहूर कोचों, फिजियों, आहार विशेषज्ञों की सेवाएं मिलेगी। इसके अलावा प्रतिभा तलाश कार्यक्रम भी शुरू करने की योजना है।

देव ने बताया कि सरकार अकादमियों के पेशेवर संचालन के लिये सहभागिता के मॉडल पर काम करेगी। उन्होंने कहा कि जमीन और सुविधाएं हम मुहैया कराएंगे जबकि इनका संचालन पेशेवर करेंगे। उन्होंने यह भी बताया कि अब भुवनेश्वर भारतीय अंडर 15 फुटबाल टीम और आई लीग की इंडियन एरोज टीम का भी बेस होगा। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.