शमी का सिरदर्द बढ़ा, अब होगी फिक्सिंग के आरोपों की जांच

Samachar Jagat | Wednesday, 14 Mar 2018 03:30:26 PM
Shami headache will increase, now will be investigating allegations of fixing

नई दिल्ली। पत्नी हसीन जहां के आरोपों के बाद तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का सिरदर्द बढ़ता ही जा रहा है। अब बीसीसीआई ने अपनी भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) को शमी पर लगे मैच फिक्सिंग के आरोपों की जांच के आदेश देकर उनका सिरदर्द और बढ़ा दिया है।

बीसीसीआई का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति (सीओए) ने शमी पर मैच फिक्सिंग में शामिल होने के आरोपों की जांच करने के लिए एसीयू को पत्र लिखा है। भारतीय क्रिकेटर की पत्नी हसीन जहां ने हाल ही में शमी पर घरेलू हिंसा, बलात्कार, उत्पीडऩ, विवाहेत्तर संबंधों के साथ उनके मैच फिक्सिंग में शामिल होने और पाकिस्तान की एक महिला से पैसे लेने जैसे संगीन आरोप लगाए थे।

सीओए के प्रमुख विनोद राय ने बुधवार को एसीयू के प्रमुख नीरज कुमार को शमी के ऊपर लगे आरोपों की जांच करने और एक सप्ताह के भीतर अपनी रिपोर्ट देने के लिए ईमेल किया। राय ने बीसीसीआई के पदाधिकारियों और मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी को भी इसकी सूचना दी है।

राय ने अपने पत्र में कहा मीडिया में आ रही विभिन्न खबरों के अनुसार शमी पर कई तरह के आरोप लग रहे हैं। सीओए ने शमी और उनकी पत्नी के बीच की टेलीफोन पर हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग भी सुनी है। सीओए इस बातचीत में केवल उस हिस्से को लेकर चिंतित है जिसमें दावा किया गया है कि शमी ने मोहम्मद भाई से किसी पाकिस्तानी महिला अलीश्बा के जरिए पैसा लिया है।

हसीन ने इससे पहले कोलकाता में संवाददाताओं से बातचीत में भी बार बार अलीश्बा का नाम लेते हुए दावा किया था कि शमी इस नाम की पाकिस्तानी लडक़ी के जरिए मैच फिक्सिंग का पैसा ले रहा है। सीओए प्रमुख ने एसीयू प्रमुख नीरज से भारतीय क्रिकेटर पर लगाए गए फिक्सिंग के आरोपों की जांच के लिए कहा है और सीओए को अपनी रिपोर्ट सप्ताह भर में देने के लिए कहा है ताकि बोर्ड आगे की कार्रवाई कर सके।

राय ने एसीयू प्रमुख से मोहम्मद भाई और अलीश्बा नाम के व्यक्तियों की पहचान करने और शमी की इनके साथ संबंधों को लेकर अपनी जांच का केंद्र रखने के लिए भी कहा है। सर्वाेच्च अदालत द्वारा नियुक्त सीओए प्रमुख ने सात दिनों से अधिक देर तक जांच को नहीं बढ़ाने के लिए भी कहा है।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.