BCCI के प्रतिबंध के खिलाफ श्रीसंत की याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

Samachar Jagat | Tuesday, 28 Aug 2018 10:11:17 AM
Supreme Court to hear Sreesanth's plea against BCCI ban

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के संबंध में विवादित क्रिकेटर एस श्रीसंत द्वारा दायर की गई याचिका पर आठ हफ्ते बाद सुनवाई करने का फैसला किया। बीसीसीआई ने स्पॉट फिक्सिंग के मामले को लेकर 2013 में श्रीसंत के जीवन भर क्रिकेट खेलने पर प्रतिबंध लगाया था। 2015 में श्रीसंत को मामले में बरी कर दिया गया। इसके बाद 2017 में केरल उच्च न्यायालय ने श्रीसंत पर लगे प्रतिबंध को बहाल कर दिया।

इस महान बल्लेबाज के 110वें जन्मदिन पर सचिन ने किया याद, गूगल ने इस तरह से दी श्रद्धांजलि 

श्रीसंत ने केरल उच्च न्यायालय के फैसले को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी है। मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर एवं डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा, कि याचिका को आठ हफ्ते बाद सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया जाता है। क्रिकेटर ने पूर्व में न्यायालय से कहा था कि जीवन भर क्रिकेट खेलने पर लगाया गया प्रतिबंध बेहद कड़ी सजा है और वह पिछले पांच साल से नहीं खेल रहे हैं जोकि पर्याप्त सजा है।

पाकिस्तान के इस दिग्गज स्पिनर ने इस महान बल्लेबाज से की विराट कोहली की तुलना 


क्रिकेटर श्रीसंत ने लाइफ टाइम बैन को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। बता दें कि स्पॉट फिक्सिंग मामले में श्रीसंत, चव्हाण और चंदीला सहित सभी आरोपियों को जुलाई 2015 में निचली अदालत ने आरोप मुक्त कर दिया था। इससे पहले उच्च न्यायालय की एक खंडपीठ ने इस तेज गेंदबाज श्रीसंत पर एकल पीठ के उस फैसले को पलट दिया था जिसमें बीसीसीआई द्वारा लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को निरस्त किया गया था। (इनपुट एजेंसी से)

चुनाव आयोग को राजनैतिक दलों का खर्च सीमित करने की जगह पारदर्शिता पर विचार करना चाहिए : भाजपा 

सामाजिक बुराइयों को खत्म करने के लिए नए कानून से ज्यादा राजनैतिक इच्छाशक्ति की जरूरत : वेंकैया  

सिख विरोधी दंगों को लेकर राहुल का बड़ा बयान, कांग्रेस पर भाजपा और अकाली दल का चौतफा हमला 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.