भारत के घरेलू मैदानों पर होने वाले मैचों में देखने को मिल सकता है यह नया प्रयोग

Samachar Jagat | Tuesday, 13 Mar 2018 01:42:24 PM
This new experiment can be found in matches at India's domestic grounds

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड घरेलू मैदान पर होने वाले भारत के सीमित ओवरों के मैचों में एक नया प्रयोग कर सकता है। इसके तहत वह इन मैचों में अधिकारिक कूकाबूरा गेंदों की जगह एसजी वाइट गेंद के प्रयोग पर विचार कर रहा है।

इंडियन वेल्स मास्टर्स: विश्व नम्बर वन फेडरर चौथे दौर में

मुंबई में घरेलू कप्तान और कोचों के सालाना सम्मेलन के दौरान यह चर्चा की गई। इस दौरान अंपायरिंग के खराब स्तर भी बातचीत हुई। भारत में प्रथम श्रेणी मैचों और टेस्ट मैचों में एसजी टेस्ट ब्रांड की गेंदों का प्रयोग होता है जबकि सीमित ओवरों के मैच (वनडे और टी20) कूकाबूरा गेंद से खेले जाते हैं।

राष्ट्रमंडल खेलों के लिए भारतीय टीम से बाहर हुए सरदार 

हालांकि बीसीसीआई ने इस सत्र में प्रयोग के तौर पर मुश्ताक अली टी-20 और विजय हजारे ट्रॉफी में एसजी वाइट का इस्तेमाल किया।

शुरू में मुश्ताक अली ट्रॉफी के दौरान फीड बैक इतना अच्छा नहीं था, लेकिन हजारे ट्रॉफी के दौरान खिलाड़ी गेंद के स्तर से खुश थे।
राज्य की टीम से जुड़े एक वरिष्ठ कोच ने कहा कि इस मामले पर क्रिकेट परिचालन के महाप्रबंधक सबा करीम से चर्चा हुई थी।

‘कुसल’ है वाशिंगटन सुंदर का पसंदीदा शिकार

हम अगले सत्र में भारतीय टीम को वनडे और टी-20 में एसजी वाइट गेंद से खेलते हुए देख सकते हैं। एसजी गेंद में काफी उभरी हुई सीम होती है।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.