ईरान में महिलाएं स्टेडियम में बैठकर देख सकेंगी मैच 

Samachar Jagat | Thursday, 10 Oct 2019 12:16:30 PM
Women in Iran will be able to watch matches by sitting in the stadium

इंटरनेट डेस्क। रुढ़िवादी इस्लामिक देश ईरान में आज से महिलाओं को स्टेडियम में बैठकर फुटबॉल मैच देखने की अनुमति मिल जाएगी। महिलाओं को 40 सालों के लंबे इंतजार के बाद यह आजादी मिली है। हालांकि अब भी महिला ऐक्टिविस्टों को यह यकीन नहीं है कि कम्बोडिया के खिलाफ होने वाला यह मैच खेलों में महिलाओं की एंट्री की मजूबत शुरुआत है। वैश्विक फुटबॉल संस्था फीफा के दबाव में ईरान सरकार को तेहरान के आजादी स्टेडियम में महिला दर्शकों के लिए सीटें आवंटित करनी पड़ी हैं। इस स्टेडियम में 78,000 लोगों के बैठने की क्षमता है।


loading...

प्रिया और जेमिमा के दम पर भारतीय महिलाएं जीतीं

कंबोडिया के खिलाफ गुरूवार को होने वाले विश्व कप 2022 क्वॉलिफायर मैच के टिकट महिलाओं ने धड़ाधड़ खरीदे। पहले बैच के टिकट एक घंटे से भी कम समय में बिक गए। बता दें कि पिछले महीने एक फुटबॉल मैच के दौरान महिला दर्शक साहर खोदयारी ने स्टेडियम में जाने की कोशिश की थी। इस पर प्रशासन ने उसे हिरासत में ले लिया था। इस उत्पीड़न से परेशान साहर ने आग लगा ली थी और बाद में अस्पताल में उनका निधन हो गया था। इस घटना के बाद फीफा ने इस्लामिक देश पर महिलाओं को भी मैच देखने की आजादी देने का दबाव बनाया था। फीफा ने ईरान से कहा था कि उसे वर्ल्ड कप क्वॉलिफायर मैचों में महिलाओं की भी एंट्री को अनुमति देनी चाहिए।

फुटबॉल चैरिटी मैच में एमएस धोनी के साथ लिएंडर पेस भी उतरे मैदान पर 

 सहर खुदायारी वेश बदलकर फुटबॉल मैच देखने स्टेडियम पहुंची थीं। यहां उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। इसके बाद महिला ने डर से खुद को आग लगा ली थी। दरअसल ईरान में अब तक महिलाओं के स्टेडियम में घुसने पर पाबंदी थी। अगर कोई महिला स्टेडियम में घुसती है तो उसे 6 महीने की जेल का प्रावधान था। मृतक महिला भी पुरुषों का वेश बनाकर स्टेडियम में घुसी थी, लेकिन उसे पुलिस ने पहचान लिया और हिरासत में ले लिया था।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.