इंटरनेट पर अंग्रेजी-हिंदी के बीच की डिजिटल खाई हुई समाप्त

Samachar Jagat | Saturday, 15 Sep 2018 02:24:17 PM
Digital e-mail gap between English and Hindi ends on the Internet

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। भारत जैसे हिंदी भाषी देश में हिंदी को काफी महत्व दिया जाता है। लेकिन समय के साथ हिंदी के साथ-साथ लोग अंग्रेजी को तवज्जो देने लगे हैं। आजकल टेक्नोलॉजी का ट्रेंड लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। अधिकांश एप्स अंग्रेजी में ही लॉन्च की जा रही है। इसी बीच देश की पहली लिंग्विस्टिक ईमेल सेवा 'डेटामेल’ ने इंटरनेट की दुनिया में अंग्रेजी के वर्चस्व को तोड़ते हुए हिन्दी दिवस के अवसर पर इंटरनेट पर भाषा की आजादी का संकल्प लिया है।

आज भारत में पहली बार बिक्री के लिए सेल में उपलब्ध हुआ oppo f9 pro

भाषायी ई मेल सेवा डेटामेल को संचालित करने वाली कंपनी डेटा एक्सजेन प्लस टेक्नोलॉजी के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय डेटा ने शुक्रवार को यहां जारी बयान में कहा कि भारत को एक ऐसे पारिस्थितिकी तंत्र, जिसमें सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर और अन्य सामग्री शामिल हैं, के विकास का जश्न मनाना चाहिए जिसने मिलकर इंटरनेट को सही मायने में समावेशी बना दिया है।

5जी सेवाओं की संभावनाओं का पता लगाने के लिए बनेगी समिति: दूरसंचार सचिव

उन्होंने कहा कि हिन्दी के साथ ही अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में बुनियादी इंटरनेट अवसंरचना के साथ डोमेन नेम ने देश में डिजिटल खाई को पाटने में उत्प्रेरक का काम किया है। उन्होंने कहा कि देश में करीब 55 करोड़ लोग अपनी भाषा के रूप में हिंदी का उपयोग कर रहे हैं। इस वजह से डेटामेल द्बारा संचालित भाषाई ईमेल सेवा उन लाखों लोगों को इंटरनेट शक्ति प्रदान करती है जो अंग्रेजी से खासे परिचित नहीं हैं। उन्होंने कहा कि व्यक्तियों के बीच संचार और जुड़ाव में भाषा बुनियाद होती है। आगे बढकर यह उन नवाचारों की ओर लेकर जाएगी जिसकी कल्पना अभी नहीं की जा सकती।- एजेंसी

अभियंता दिवस पर गूगल ने भारत रत्न मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया का डूडल बनाकर किया याद

वॉट्सएप पर ग्रुप विडियो कॉल करने के लिए फॉलो करें ये स्टेप्स

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.