हथियारों में काम आने वाली एआई नहीं बनाएगी गूगल: पिचाई

Samachar Jagat | Saturday, 09 Jun 2018 09:36:38 AM
Sundar Pichai Says Used in the arms AI Google will not make it

वाशिंगटन। कृत्रिम मेधा (एआई) के दुरुपयोग को लेकर आशंकाओं के बीच प्रमुख प्रौद्योगिकी कंपनी गूगल ने कहा है कि वह हथियारों में काम आने वाली ऐसी कोई प्रौद्योगिकी विकसित नहीं कर रही है। भारतीय मूल के पिचाई ने एक ब्लॉगपोस्ट में लिखा है कि कंपनी हथियारों व उन अन्य प्रौद्योगिकियों के लिए न तो एआई का डिजाइन करेगी और न ही कार्यान्वयन करेगी जिनका उद्देश्य लोगों को चोट पहुंचाना हो सकता है।

वॉट्सएप में आया अब तक का सबसे धमाकेदार फीचर

उन्होंने लिखा है कि कंपनी अंतरराष्ट्रीय तौर पर स्वीकार्य नियमों का उल्लंघन करते हुए निगरानी के लिए सूचनाओं के इस्तेमाल वाली प्रौद्योगिकी नहीं बनाएगी। पिचाई ने लिखा है,' हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि हम हथियारों के इस्तेमाल के लिए एआई का विकास नहीं कर रहे हैं, लेकिन हम अनेक अन्य क्षेत्रों में सरकार व सेना के साथ काम करते रहेंगे।'

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन की क परियोजना में शामिल होने को लेकर कंपनी की आलोचना हो रही है। कंपनी ने हाल ही में कहा कि वह रक्षा विभाग की मेवन परियोजना के साथ काम करना बंद कर रही है। यह चित्रों के विश्लेषण की एआई आधारित परियोजना है जो ड्रोन हमलों को और सटीक बना सकती है।

उपयोगकर्ताओं की जानकारी हैंडसैट कंपनियों को देने के मामले में सरकार ने फ़ेसबुक से स्पष्टीकरण मांगा

इसके बाद कंपनी के हजारों कर्मचारियों ने एक पत्र पर हस्ताक्षर किए जिसके अनुसार यह गूगल के नैतिकता संबंधी सिद्धांतों के खिलाफ है। इंडीपेंडेंट की रिपोर्ट के अनुसार इस पत्र में कहा गया है,' गूगल को युद्ध कारोबार में शामिल नहीं होना चाहिए।'- एजेंसी

फ़ेसबुक के प्राइवेसी बग ने करीब 1.4 करोड़ लोगों की निजी जानकारी सार्वजनिक की

सैमसंग ने लॉन्च किए Samsung Galaxy A9 Star और A9 Star Lite

आइडिया का 'जीते बेझिझक' ऑफर में मिल रहा जबरदस्त कैशबैक



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.