मरम्मत के लिए इलेक्ट्रॉनिक सामान के आयात के नियम सरल किए गए

Samachar Jagat | Friday, 14 Sep 2018 02:30:41 PM
The rules for the import of electronic goods were simplified for the repair

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। सरकार ने मरम्मत के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स सामान मसलन मोबाइल फोन, रंगीन टीवी और कुछ चिकित्सा उपकरणों के शुल्क मुक्त आयात के नियम उदार कर दिए हैं। इस तरह के इलेक्ट्रॉनिक्स सामान का कंपनियों द्बारा पहले निर्यात किया गया था और मरम्मत के लिए इनका आयात किया जाता है। हालांकि, इसके साथ शर्त यह होती है कि कंपनियों को मरम्मत के बाद उनका फिर से निर्यात करना होगा।

डिजिटल कारोबार 2018 में 2.37 लाख करोड़ का होगा : आईएएमएआई

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार इन वस्तुओं के आयात पर कोई शुल्क नहीं लगेगा, लेकिन इसके साथ शर्त यह होगी कि मरम्मत के बाद उनका फिर से निर्यात करना होगा। अधिसूचना में कहा गया है कि निर्यात किए गए इलेक्ट्रॉनिक्स सामान को निर्यात के सात साल के अंदर मरम्मत के लिए उनका आयात करने की अनुमति होगी। आयात के बाद एक साल के अंदर उनका फिर से निर्यात करना होगा। अभी तक सीबीआईसी निर्यात के तीन साल के अंदर किसी सामान के आयात की अनुमति देता है। मरम्मत के बाद उस सामान का फिर से निर्यात छह महीने में करना होता है।

4जी डाउनलोड स्पीड के मामले में सातवें महीने भी जियो अव्वल, अपलोड स्पीड में एयरटेल ने मारी बाजी

इस अधिसूचना के दायरे में जेरॉक्स मशीन, प्रिंटर, मोबाइल फोन, रंगीन टीवी, एलसीडी-एलईडी पैनल, चिकित्सा उपकरण मसलन हियरिग एड, ईसीजी और अल्ट्रासाउंड मशीन और एमआरआई उपकरण आते हैं। इस तरह के इलेक्ट्रॉनिक्स सामान का आयात करने वाले आयातकों को यह बांड देना भरना होगा कि मरम्मत के बाद उनका आयात के एक साल के अंदर फिर निर्यात कर दिया जाएगा। अधिसूचना में कहा गया है कि यदि वे ऐसा करने में विफल रहते हैं तो उन्हें सीमा शुल्क देना होगा। ईवाई के कर भागीदार अभिषेक जैन ने कहा कि विनिर्माता निर्यातकों की दृष्टि से यह एक अच्छा कदम है।- एजेंसी

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.