ओडिशा के भितरकनिका नेशनल पार्क में प्रवासी पक्षियों की संख्या में आई गिरावट

Samachar Jagat | Tuesday, 04 Sep 2018 11:09:04 AM
Degradation of migratory birds in Odisha's Bhitarkanika National Park

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

केंद्रपाड़ा। ओड़िशा के भितरकनिका नेशनल पार्क में वार्षिक प्रजनन के लिए आने वाले प्रवासी पक्षियों की संख्या में इस साल कमी आई है जो वन अधिकारियों के लिए एक बड़ी चिंता है। राजनगर मैंग्रोव (वन्यजीव) वन मंडल के मंडलाधिकारी प्रसन्ना कुमार आचार्य ने सोमवार को कहा कि हालांकि बड़ी संख्या में स्थानीय पक्षियों ने केंद्रपाड़ा जिले में भितरकणिका को अंडे देने के लिए फिर से एक प्रमुख केंद्र के रूप में चुना है, लेकिन इस बार प्रवासी पक्षियों की संख्या में कमी आई है जो मानसून के दौरान आते थे।

नेचर से जुड़ना चाहते है तो जाएं जीरो वैली, यहां का म्यूजिकल फेस्टिवल दुनिभार में है फेमस

उन्होंने बताया कि पक्षियों की वार्षिक गणना 23 से 30 अगस्त के बीच की गई। इसमें पता चला कि मानसून के दौरान पार्क में पक्षियों के अंडे देने के स्थान बागगाहना आने वाले प्रवासी पक्षियों की संख्या में कमी आई है। यह स्थान पहले उनका पसंदीदा प्रजनन स्थल होता था। उन्होंने कहा कि विभाग इसके कारणों का पता लगाने के लिए पक्षी विज्ञानियों से अध्ययन कराने की योजना बना रहा है।

पर्यटन की दृष्टि से अत्यंत समृद्ध राज्य है उत्तर प्रदेश

वहीं आगामी पर्यटन मौसम के लिए राज्य सरकारों के पर्यटन विभागों ने अपने-अपने राज्यों के प्रमुख स्थलों को यहां एक प्रदर्शनी में प्रस्तुत किया। इसमें होटलों, ट्रैवल एजेंटों और कंपनियों ने अपने विभिन्न ऑफरों की पेशकश की। तीन दिवसीय इंडिया ट्रैवल मार्ट (आईटीएम) का रविवार को आगाज हुआ। इस प्रदर्शनी में उत्तर प्रदेश पर्यटन मेजबान राज्य है। जबकि गुजरात पर्यटन सहयोगी राज्य के तौर पर शामिल हुआ है। वहीं हिमाचल प्रदेश पर्यटन और पश्चिम बंगाल पर्यटन को फीचर राज्य के तौर पर शामिल किया गया है। -एजेंसी 

अब आलीशान क्रूज पर सवार होकर गंगा घाटों और भव्य गंगा आरती का नजारा ले सकेंगे वाराणसी आने वाले पर्यटक

इजरायल पर्यटन के लिए तीन साल में पांच शीर्ष बाजारों में शामिल हो सकता है भारत

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.