केदारनाथ में बनी ध्यान गुफा मोदी के स्वागत के लिए तैयार

Samachar Jagat | Thursday, 01 Nov 2018 12:08:05 PM
Meditation cave built in Kedarnath ready to welcome Modi

देहरादून। उत्तराखंड स्थित केदारनाथ से करीब 400 मीटर उंची ध्यान गुफा (मेडीटेशन केव) सहित कई नई चीजें अगले महीने विश्व प्रसिद्ध हिमालयी धाम के दर्शन के लिए आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करेंगी । रूद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि धाम के करीब 400 मीटर उंचे स्थान पर बनी ध्यान गुफा श्रद्धालुओं के लिए एक अतिरिक्त आकर्षण का केंद्र होगी, जो प्रधानमंत्री के प्रस्तावित दौरे के दौरान प्रदर्शित की जाएगी । उन्होंने बताया कि रूद्र मेडिटेशन केव अपने उद्वेश्य की पूर्ति करने के लिए बिल्कुल सही जगह पर स्थित है । पांच मीटर लंबी और तीन मीटर चौड़ी गुफा में एक समय में एक व्यक्ति के लिए ध्यान मग्न होने के पर्याप्त जगह है ।

जिलाधिकारी ने बताया कि इस गुफा को प्राकृतिक वातावरण में तैयार किया गया है लेकिन यह टेलीफोन, पानी, बिजली और टॉयलेट जैसी सभी सुविधाओं से संपन्न है । घिल्डियाल ने कहा कि प्रसिद्ध धाम के पास स्थित इस गुफा को श्रद्धालुओं और पर्यटकों में लोकप्रिय बनाने के लिए प्रशासन सोशल मीडिया पर अभियान चलाएगा । यह गुफा प्रधानमंत्री के लिये काफी अहम है जिन्होंने अपनी शुरूआती जिंदगी का कुछ हिस्सा उत्तराखंड में हिमालय में ध्यान करने में बिताया था । इस बार कुछ अन्य चीजें जो प्रधानमंत्री का स्वागत करेंगी उनमें मंदाकिनी और सरस्वती नदियों के संगम से लेकर मंदिर तक जाने वाली काफी चौडी मुख्य अक्ष : मुख्य अप्रोच रोड: और मंदाकिनी के तट पर स्थित रिटेनिंग वॉल प्रमुख हैं । 

मुख्य अक्ष और रिटेनिंग वॉल सहित कई अन्य परियोजनाओं का पिछले साल प्रधानमंत्री ने अपने दौरे के दौरान शिलान्यास भी किया था । केदारनाथ में चल रही परियोजनाओं की प्रगति की निगरानी कर रहे प्रधानमंत्री के इन पूरी हो चुकी दोनों परियोजनाओं का उदृघाटन करने की संभावना है । हांलांकि, इस बार आगामी 18 नवंबर को होने वाले नगर निकाय चुनावों के चलते चुनाव आचार संहिता लागू होने के कारण इसकी संभावना क्षीण लगती है । घिल्डियाल ने बताया कि प्रधानमंत्री संभवत: छह नवंबर को केदारनाथ आएंगे और इसके लिए तैयारियां की जा रही हैं। -एजेंसी


 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
रिलेटेड न्यूज़
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.