चीन के स्प्रिंगफील्ड बुद्धा को पीछे छोड़ दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति बनी स्टेच्यू ऑफ यूनिटी

Samachar Jagat | Wednesday, 31 Oct 2018 12:18:34 PM
The worlds tallest Statue of Statue of Unity

केवडिया। चीन के स्प्रिंगफील्ड बुद्धा की 153 मीटर ऊंची मूर्ति को आधिकारिक तौर पर पीछे छोड़ते हुए दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति स्टेच्यू ऑफ यूनिटी का लोकार्पण हो गया है। गुजरात के नर्मदा जिले में केवडिया स्थित सरदार सरोवर बांध से लगभग तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित साधु द्वीप पर बनी सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी का निर्माण किया गया है। इसके चेहरे की ऊंचाई सात मंजिली इमारत के बराबर है और इसके हाथ 70 फुट लंबे हैं जबकि पैर के निचले हिस्से की ऊंचाई 85 फुट है।

लगभग तीन हजार करोड रूपए की खर्च से करीब साढे तीन साल में बन कर तैयार हुई इस मूर्ति की ऊंचाई न्यूयार्क स्थित स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से भी करीब दो गुनी है। इसे बनाने की घोषणा गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री के तौर पर मोदी ने वर्ष 2010 में की थी। इसका काम एल एंड टी कंपनी को अक्टूबर 2014 में सौंपा गया था। काम की शुरूआत अप्रैल 2015 में हुई थी। इसमें 70 हजार टन सीमेंट और लगभग 24000 टन स्टील तथा 1700 टन तांबा और इतना ही कांसा लगा है।

प्रतिमा के आधार पर एक म्यूजियम और इसके अंदर 153 मीटर की ऊंचाई पर जहां इसका हृदयस्थल है, इस पहाड़ी क्षेत्र, नर्मदा नदी और निकटवर्ती सरदार सरोवर डैम का नजारा देखने के लिए एक दर्शक क्षेत्र भी बनाया गया है। इसमें दो लिफ्ट भी लगाए गए हैं। स्टेच्यू ऑफ यूनिटी का लोकार्पण होने के साथ ही ये पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बन गई है। -एजेंसी 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
रिलेटेड न्यूज़
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.