पहाडों पर रोमाटिंक बारिश का लुत्फ उठाना चाहते है तो जाएं बारिश की राजधानी और बादलों के देश चेरापूंजी

Samachar Jagat | Thursday, 06 Sep 2018 11:32:17 AM
trip to Weight place of the word cherrapunji

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। बारिश का मौसम हर जगह सुहावना लगता है। चारों तरफ हरियाली मन को ठंडक और सुकून  देती है। साथ ही मानसून का लुत्फ उठाने के लिए लोग ऐसी जगह पर जाना चाहते हैं जहां पर बारिश का मजा लिया जा सके। इसके लिए बेस्ट है चेरापूंजी। यहां का मौसम बहुत ही खूबसूरत और रोमांटिक होता है। यह ऐसी जगह है जहां पर 12 महीने बारिश होती है। इसलिए सबसे ज्यादा बारिश  का रिकॉर्ड दर्ज होने की वजह से चेरापूंजी को ''वेटेस्ट प्लेस ऑफ द वर्ड'' और ''बारिश की राजधानी'' भी कहा जाता है। यहां पर घूमने लायक कई ऐसी जगह है जहां पर आप जा सकते हैं। हमेशा ठंड भरा मौसम रहने के कारण यहां सालभर पर्यटक घूमने आते हैं। अपनी अद्भुत व आकर्षक नैसर्गिक छटा के कारण ही चेरापूंजी के आसपास स्थित झरने और नेचुरल ब्यूटी टूरिस्ट्स को लुभाती रही है।

पहाड़ों और घाटियों से घिरे चेरापूंजी का नजारा देखने लायक है। यहां फर्न, चीड़ और ऐरोकेरिया के पेड़, कई तरह के लोकल फ्रूट्स, संतरा और अन्नानास बहुत होते हैं। यहां के लोग सौंदर्य प्रेमी होते हैं। इनके घर बहुत ही सुंदर और सजावटी होते हैं। साथ ही ये लोग अपनी धरती, धर्म, समाज और रीति-रिवाज के प्रति ये बहुत ही आस्थावान होते हैं।

देखने लायक- रामकृष्ण मिशन संस्थान, मोसमाई की गुफाएं, लिविंग ब्रिज और माउलंग सीम पीक जैसी खूबसूरत जगह देखी जा सकती है। मेघालय की राजधानी शिलांग से चेरापूंजी केवल 56 किमी. दूर है। रास्ते में चढ़ाई है, लेकिन ज्यादा नहीं। ऊंची-नीची पहाडि़यों और टेडे-मेडे रास्तों से गुजरते हुए आप कब चेरापूंजी पहुंच जाएंगे, पता भी नहीं चलेगा।

आपको बता दें कि चेरापूंजी को पहले 'सोहरा' नाम से जाना जाता था। अंग्रेजों को इसके नाम के उच्चारण में दिक्कत होती थी इसलिए इसके नाम में चेरापूंजी जोड़ दिया था। फिर से जन आंदोलन के बाद राज्य सरकार ने इसका नाम बदल कर फिर से सोहरा करने का फैसला किया।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.