रोबोट में अपने आप भी विकसित हो सकता है पूर्वाग्रह : अध्ययन

Samachar Jagat | Wednesday, 12 Sep 2018 12:24:17 PM
A bias can also develop in the robot itself: study

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

लंदन। पूर्वाग्रह मानव विशिष्ट धारणा है जिसमें किसी खास व्यक्ति या समूह को लेकर कोई राय बनाने के लिए, या रूढ़िवादी धारणा के लिए मानव संज्ञान की जरूरत होती है। एक अध्ययन में सामने आया है कि कृत्रिम बुद्धिमत्ता मशीन दूसरी मशीनों से सीखकर, नकलकर या पहचान के जरिए पूर्वाग्रह के लक्षण प्रदर्शित कर सकती है । ब्रिटेन की कार्डिफ यूनिवर्सिटी और अमेरिका के मेसाच्यूसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ( एमआईटी ) के शोधकर्ताओं ने पाया कि दूसरों के प्रति पूर्वाग्रह दिखाने के लिए उच्च स्तर की संज्ञानात्मक क्षमता की जरूरत नहीं है और इसे मशीनों द्वारा आसानी से प्रदर्शित किया जा सकता है ।

ओप्पो ने लॉन्च किया वाटरड्रॉप नॉच डिस्प्ले वाला स्मार्टफोन Oppo A7X, जानें कीमत और फीचर्स

साइंटिफिक रिपोर्ट्स जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक, ऐसा लगता है कि पूर्वाग्रह मानव विशिष्ट धारणा है जिसमें किसी खास व्यक्ति या समूह को लेकर कोई राय बनाने के लिए, या रूढ़िवादी धारणा के लिए मानव संज्ञान की जरूरत होती है । कार्डिफ विश्वविद्यालय में प्रोफ़ेसर रोजर व्हिटकर ने कहा, यह संभव है कि पहचान या विभेद और दूसरों की नकल में सक्षम स्वायत्त मशीनें भविष्य में पूर्वाग्रह की धारणा को लेकर अतिसंवेदनशील हों जो अभी हम इंसानी आबादी में देखते हैं ।

अब आलीशान क्रूज पर सवार होकर गंगा घाटों और भव्य गंगा आरती का नजारा ले सकेंगे वाराणसी आने वाले पर्यटक

यद्यपि कुछ तरह के कंप्यूटर कलन में सार्वजनिक आंकड़ों और इंसानों द्वारा मिले आंकड़ों जैसे नस्लभेद और लिंगभेद, के आधार पर पूर्वाग्रह की बात प्रदर्शित हुई है । शोध से यह संभावना सामने आई है कि कृत्रिम बुद्धिमता अपने आप ही पूर्वाग्रही समूह विकसित कर सकती है । - एजेंसी 

इजरायल पर्यटन के लिए तीन साल में पांच शीर्ष बाजारों में शामिल हो सकता है भारत

देश में विलुप्त हुए चीता को मध्यप्रदेश की नौरादेही वन्यजीव अभयारण्य में बसाने की कवायद फिर शुरू

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.