इस मंदिर में पत्नी को पिलाया जाता है पति के जूतों में पानी, फिर बेरहमी से पीटा जाता

Samachar Jagat | Saturday, 07 Jul 2018 01:41:43 PM
In this temple, the wife is given water in husband's shoes, Then ruthlessly beaten

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। आज महिलाएं घर की चार दिवारी तक सीमित नहीं है। घर से बाहर हर क्षेत्र में महिलाएं अपना नाम रोशन कर रही है। पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही है। आजकल सभी महिलाओं को अपना आत्मसम्मान प्रिय होता है। वहीं पुरुष भी महिला को इज्जत देने लगे हैं। उन्हें केवल एक महिला ही नहीं समझकर अपना पार्टनर मानने लगे है जो उनका हर समय हर काम में साथ देती है। लेकिन इतना सबकुछ बदलने के बाद भी कुछ ऐसी जगह है जहां अब भी महिलाओं को केवल पुरुषों के उपयोग की चीज माना जाता है।

कुछ ऐसी जगह है जहां शिक्षा के अभाव में महिलाओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। हम आपको राजस्थान की ही एक ऐसी जगह के बारे में बता रहे है जहां पर महिलाएं अपने पति के जूतों में पानी भरकर पीती है। यहां के लोगों में यह अंधविश्वास पैदा हो गया है अगर महिलाएं ऐसा करती है तो उनका भला होता है। राजस्थान में एक देवी का मंदिर है जहां पर महिलाएं अपने पति के साथ जाती है। और पति के पैरों में पहने हुए जूते को उतरवाकर उन जूतों में पानी पीती है। इतना ही नहीं इस इस मंदिर में भूत उतारने का भी प्रचलन है। महिलाओं के साथ यहां अत्याचार होता है।

जूते में पानी पीने के बाद तांत्रिक महिलाओं को उन्ही जूतों से महिलाओं को बेरहमी से पीटते हैं। इसके बाद उन जूतों को महिला के मुंह में रख कर पूरे गांव का चक्कर लगवाते हैं। यह मंदिर राजस्थान के मेवाड़ की एक फेमस जगह पर स्थित हैं। कहा जाता है कि महिलाओं के ऊपर से भूत का साया इस मंदिर में उतारा जाता है। पति के जूते से पानी पीने के बाद पूजा पाठ कराने वाले तांत्रिक महिलाओं को उन्ही जूतों से बेरहमी से मारते भी हैं। बाद में  उन जूतों को मुंह में रख कर पूरे गांव का चक्कर लगाना पड़ता है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.