अनोखा है यहां बीमारी का इलाज करना, शरीर पर लगाते है आग

Samachar Jagat | Wednesday, 30 Nov 2016 04:12:25 PM
अनोखा है यहां बीमारी का इलाज करना, शरीर पर लगाते है आग

शरीर में बिमारी होना एक आम बात है। लेकिन उसके संबध में बिमारी का इलाज कैसे हो रहा है, ये उस बिमारी के बारे में पता होने पर ही लगाया जा सकता है। कई लोग घरेलु उपायों का सहारा लेते है तो कई लोग डॉक्टर की शरण में जाते है। कई देसी इलाज को प्राथमिकता देकर वैध के पास जाते है तो कई होम्यौथैरेपी से अपना इलाज करवाते है।

लेकिन आज हम इलाज की एक ऐसी थैरेपी के बारे में बात कर रहे है जिसे फायर थैरेपी कहा जाता है। तो आइए जानते है इस थैरेपी के बारे में।

चीन के कई इलाको में बीमारियों के इलाज के लिए फायर थैरेपी को काम में ली जाती है। इस थैरेपी में मरीज के शरीर पर अल्कोहल डालकर आग लगा दिया जाता है। चीन में यह थैरेपी बेहद चलन में है। और इसे काफी असरकारक माना जाता है। जिससे तनाव, अवसाद, बदहजमी, और बांझपन से लेकर कैंसर तक का इलाज किया जाता है।

चीन में फायर थैरेपी का उपयोग पिछले कई शताब्दियों से किया जा रहा है। हालांकि इस बात का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है कि यह किसी बिमारी को ठीक करनें में कितनी असरकारक है। चीन में इस विधि से इलाज करनें वाले झांग फेंगाओं अपनें काम के लिए काफी लोकप्रिय है। उनका मानना है कि फायर थैरेपी मानव इतिहास में चौथी बड़ी क्रांति है। इसनें चीनी और पश्चिम दोनों ही तरह की इलाज पध्दति को पीछे छोड़ दिया है।

फायर थैरेपी में कैसे होता है इलाज-

फेंगाओं अपने बीजिंग स्थित एक छोटे से अपार्टमेंट में इस पध्दति से लोगो का इलाज करते है। उन्होंने एक मरीज की पीठ पर जड़ी बूटियों से बना एक लेप लगाया, उसे एक कपड़े से ढक दिया। फिर उस पर पाना और अल्कोहल का छिड़काव करते है और मरीज की रीढ़ की हड्डी पर आग की लौ को फिराते है। जिस मरीज का वे इलाज कर रहे है उसे ब्रेन हेमरेज हुआ था। तब से उसकी याद्दाश्त और शारीरिक गतिविधि भी प्रभावित हो गई है। उनका मानना है कि इससे थोड़ा गरम महसूस होता है लेकिन दर्द बिल्कुल नहीं होता।

फायर थैरेपी में खर्च कम लगता है। और ये मोटी रकम देने से बच जाती है। इस पध्दति से इलाज करवाने वाले लोगो का कहना है कि पहले इस बारे में सुनकर हैरान हुए। लेकिन जब फायर थैरेपी से इलाज करवाया है तब से आराम मिला है।

क्या है इलाज का सिध्दांत-

फायर थैरेपी का यह तरीका चीनी की प्राचीन मान्यताओं पर ही आधारित है। जिसके अनुसार शरीर में गर्मी और ठंडक के बीच सामंजस्य बनाने पर जोर दिया गया है। फेंगाओं के मुताबिक शरीर की ऊपरी सतह को गर्म करके अंदर की ठंडक दूर की जाती है। फायर थैरेपी से इलाज हाल में एक बार फिर चर्चाओं के बाजार में छाय़ा था, जब इससे इलाज करा रहें एक मरीज नें अपनी फोटो खींची और यहीं फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई।  

हालांकि फायर थैरेपी को लेकर कई सारे सवाल भी खड़े किए गए है। जिनमें इलाज करने वाले के पास सर्टिफिकेट है या नही। इलाज के दौरान किसी दुर्घटना से बचनें के लिए किस तरह की सुरक्षा व्यवस्था है। इस संबध में फेंगाओ का कहना है कि कई बार लोगों को चोट भी आई है कई बार मरीज चेहरे और शरीर के दूसरे हिस्सों पर जल भी गए। लेकिन यह सही तरीकों की कमी की वजह से हुआ। मैनें हजारों लोगों को सिखाया और हमसे कभी कोई हादसा नहीं हुआ।

 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.