एमपीडा ने शुरू की एंटीबायोटिक-मुक्त झींगा प्रमाणन सुविधा

Samachar Jagat | Saturday, 08 Feb 2020 04:38:50 PM
MPDA launches antibiotic-free shrimp certification facility

नई दिल्ली। समुद्री उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एमपीडा) ने समुद्री उत्पादों के एंटीबायोटिक-मुक्त होने की प्रमाणन सुविधा ‘शाफरी’ शुरू कर दी है। इससे अंतरराष्ट्रीय बाजार मानकों के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण पोस्ट लार्वा झींगा (पीएल) के उत्पादन में मदद मिलेगी। एमपीडा की एक विज्ञप्ति के मुताबिक केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कोच्ची में शुक्रवार को भारतीय 22वें अंतरराष्ट्रीय समुद्री खाद्य शो (आईआईएसएस) के उद्घाटन सत्र में कहा कि ’’शाफरी’’ शुरू से लेकर अंत तक सम्पूर्ण समाधान प्रदान करती है। इसकी मदद से एमपीडा देश भर में लार्वा पालकों द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले पोस्ट लार्वा की ऑडिटिंग कर सकेगी।

तीन दिन के आईआईएसएस का आयोजन एमपीडा और भारतीय समुद्री खाद्य निर्यात संघ (एसईएआई) ने मिलकर किया है। खान ने कहा कि यह कदम विश्व की एक शीर्ष संस्था द्वारा तेजी से विकसित हो रहे सुपरबग नामक दवा प्रतिरोधी बैक्टीरिया की पहचान किए जाने के मद्देनजर उठाया गया है। उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और संयुक्त राष्ट्र ने एंटीबायोटिक-प्रतिरोधी बैक्टीरिया के उपभेदों के तेजी से उभरने को उच्च प्राथमिकता वाला सार्वजनिक स्वास्थ्य सरोकार माना है। ऐसे में अब भारत के किसान किसी सरकारी निकाय द्वारा प्रमाणित लार्वा उत्पादकों से एंटीबायोटिक-मुक्त पोस्ट लार्वा खरीद सकेंगे। शाफरी की संपूर्ण प्रमाणीकरण प्रक्रिया भारत सरकार के ई-गवर्नेंस कार्यक्रम के अनुरूप ऑनलाइन होगी। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.