वोडाफोन आइडिया ने विश्लेषकों साथ तिमाही रपट पर चर्चा का कार्यक्रम स्थगित किया

Samachar Jagat | Friday, 14 Feb 2020 05:01:51 PM
Vodafone Idea postpones discussion on quarterly report with analysts

नई दिल्ली। वोडाफोन आइडिया ने तिमाही वित्तीय नतीजों पर विश्लेषकों के साथ शुक्रवार को होने वाली चर्चा स्थगित कर दी है। गौरतलब है कि कंपनी पर 53,000 करोड़ रुपये का राजस्व बकाया है। वोडाफोन आइडिया ने बृहस्पतिवार को शेयर बाजारों को दी गयी एक सूचना में कहा, ल्ल14 फरवरी, 2020 को नतीजों के संबंध में प्रस्तावित विश्लेषक सम्मेलन के बारे में... हम यह बताना चाहते हैं कि उक्त सम्मेलन को स्थगित कर दिया गया है। गुरुवार देर रात दी गई इस जानकारी में कहा गया कि सम्मेलन की नई तारीख अलग से बताई जाएगी।



loading...

कंपनी ने हालांकि इसमें सम्मेलन को स्थगित करने की कोई वजह नहीं बताई है। गौरतलब है कि ताजा घटना क्रम में उच्चतम न्यायालय ने दूरसंचार कंपनियों के खिलाफ 1.47 लाख करोड़ रूपए के समेकित सकल राजस्व (एजीआर) की अदायगी के न्यायिक आदेश पर अमल नहीं करने पर शुक्रवार को कंपनियों को नोटिस जारी कर पूछा है कि क्यों नहीं उनके खिलाफ अवमनना कार्यवाही की जाये।

पीठ ने समेकित सकल राजस्व की बकाया राशि के भुगतान के लिये और समय देने का अनुरोध करने वाली वोडाफोन आइडिया, भारती एयरटेल और टाटा टेलीसॢवसेज की याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान वसूली के विषय में दूरसंचार विभाग के एक डेस्क अधिकारीके पत्र पर गहरी पीड़ा जताई। पीठ ने सवाल उठाया कि कोई डेस्क अधिकारी इस तरह का आदेश कैसे दे सकता है कि जो शीर्ष अदालत के फैसले के प्रभाव पर रोक लगाता है।

भारतीय दूरसंचार बाजार में परिचालन कर रही तीन निजी कंपनियों में वोडाफोन आइडिया को सबसे अधिक संवेदनशील स्थिति में माना जा रहा है। इस पर 53,000 करोड़ रुपये का बकाया है, जिसमें 24,729 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम के बाकी हैं और अन्य 28,309 करोड़ रुपये लाइसेंस शुल्क के बाकी हैं। कंपनी ने इससे पहले कहा था कि अगर उसे राहत नहीं मिली, तो उसका कारोबार बंद हो जाएगा। -(एजेंसी)

loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.