किसान आंदोलन को लेकर Ashok Gehlot ने केन्द्र सरकार पर साधा निशाना, कही ये बात

Samachar Jagat | Saturday, 26 Dec 2020 11:12:46 AM
Ashok Gehlot targeted the central government for the farmers' movement

इंटरनेट डेस्क। तीन नए केन्द्रीय कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर एक बार फिर से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है। 

इस संबंध में अशोक गहलोत ने शुक्रवार को कई ट्वीट किए हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि किसान ठण्ड के अंदर बैठे हुए हैं, लेकिन परवाह ही नहीं है, इतनी संवेदनहीनता नहीं होनी चाहिए। प्रतिष्ठा तो जनता की होती है, जनता की प्रतिष्ठा कायम रहेगी तो नेता की प्रतिष्ठा कायम रहेगी, सरकार की प्रतिष्ठा कायम रहेगी। आज जनता की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है।

 

किसान आंदोलन को 1 महीना होने आया,कोई सुनवाई करने वाला नहीं,रोज उनको निमंत्रण देते हैं,भ्रम पैदा करते हैं,विपक्ष पर आरोप लगाते हैं। ये स्वतःस्फूर्त आंदोलन चल पड़ा है,किसान दुखी हैं समझ रहे हैं कि आने वाला वक़्त बर्बादी का वक़्त होगा हमारे लिए,उसे रोकना है इसलिए ये आंदोलन चल रहा है

— Ashok Gehlot (@ashokgehlot51) December 25, 2020

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन को 1 महीना होने आया, कोई सुनवाई करने वाला नहीं, रोज उनको निमंत्रण देते हैं, भ्रम पैदा करते हैं, विपक्ष पर आरोप लगाते हैं। ये स्वत:स्फूर्त आंदोलन चल पड़ा है, किसान दुखी हैं समझ रहे हैं कि आने वाला वक्त बर्बादी का वक्त होगा हमारे लिए,उसे रोकना है इसलिए ये आंदोलन चल रहा है।

केंद्र द्वारा बनाये गये कृषि कानूनों में पब्लिक इंट्रेस्ट में हमने जो संशोधन किये उसे भारत सरकार को समझना चाहिए। केंद्र द्वारा बनाये गये कृषि कानूनों में 3 संशोधन विधेयक, 5 एकड़ तक जमीन वाले किसानों की जमीन को कुर्की से बचाने वाले विधेयक को राज्यपाल महोदय आगे भेज ही नहीं रहे हैं।

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.