CUET-UG के परिणाम घोषित, विवि तैयार करेंगे योग्यता सूची : NTA

Samachar Jagat | Friday, 16 Sep 2022 10:02:04 AM
CUET-UG results declared, universities will prepare merit list: NTA

नयी दिल्ली |  स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए विश्वविद्यालयीन सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीयूईटी) के परिणाम शुक्रवार को घोषित कर दिए गए। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। परीक्षा के नतीजे बृहस्पतिवार रात 10 बजे घोषित होने थे, लेकिन एनटीए ने देर रात बहुत बड़ा डेटाबेस होने का हवाला देते हुए परीक्षा परिणाम घोषित करने में देरी की जानकारी दी थी। एनटीए की वरिष्ठ निदेशक (परीक्षा) साधना पराशर ने कहा, ''परीक्षा में शामिल विश्वविद्यालय योग्यता सूची तैयार करेंगे और सीयूईटी-यूजी के अंक पत्र के आधार पर छात्रों की काउंसिलिग के बारे में निर्णय लेंगे।’’

स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए पहली बार आयोजित की गई सीयूईटी-यूजी परीक्षा जुलाई में शुरू हुई थी और 30 अगस्त को खत्म हुई थी। पंजीकरण कराने वाले करीब 6० फीसदी अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी। पराशर ने बताया कि प्रत्येक छात्र के प्रदर्शन का मूल्यांकन 'इक्वी-पर्सेंटाइल पद्धति’ का इस्तेमाल करते हुए किया गया है। इस पद्धति के तहत एक ही विषय के लिए कई सत्रों में हुई परीक्षा में छात्रों के प्रत्येक समूह के प्रतिशत का इस्तेमाल कर हर अभ्यर्थी के सामान्य अंकों की गणना होती है।

पराशर ने कहा, ''कई विषयों के लिए सीयूईटी-यूजी अलग-अलग पालियों में कराई गई। चूंकि, विभिन्न पालियों में किसी भी विषय के लिए प्रश्न पत्र अलग थे और यह भी संभव है कि विभिन्न प्रश्न पत्रों में समानता बनाए रखने के हरसंभव प्रयासों के बावजूद अलग-अलग सत्रों में इन प्रश्न पत्रों का कठिनाई का स्तर एक जैसा न हो।’’ उन्होंने कहा, ''कुछ छात्रों ने दूसरों के अपेक्षाकृत अधिक मुश्किल प्रश्नपत्र का सामना किया होगा। अपेक्षाकृत मुश्किल प्रश्नपत्र को हल करने वाले उम्मीदवारों को उन अभ्यर्थियों के मुकाबले कम अंक मिल सकते हैं, जिन्होंने आसान प्रश्नपत्र हल किया।’’

पराशर ने कहा, ''सभी पालियों के छात्रों के अंकों की सीधे तुलना नहीं की गई है, इसलिए इस तरह की तुलना के अनुकूल बनाने के लिए सभी पालियों के अंकों को सामान्य बनाने की आवश्यकता थी।’’ आरंभिक योजना के अनुसार, सीयूईटी-यूजी के सभी चरण 20 अगस्त को समाप्त होने थे, लेकिन परीक्षा को आगे स्थगित कर दिया गया था। परीक्षा को उन छात्रों को समायोजित करने के लिए छह चरणों में विभाजित किया गया था, जिनकी परीक्षा कई गड़बड़ियों के कारण पुनर्निर्धारित की गई थी। सीयूईटी के लिए 14.9 लाख परीक्षार्थियों ने पंजीकरण कराया था। इसके साथ ही यह नीट-यूजी (राष्ट्रीय प्रवेश पात्रता परीक्षा-परास्नातक) के बाद देश की सबसे बड़ी दाखिला परीक्षा बन गई है। नीट-यूजी के लिए औसतन 18 लाख छात्र पंजीकरण कराते हैं। सीयूईटी-यूजी ने जेईई-मेन को पीछे छोड़ दिया है, जिसके लिए औसतन नौ लाख पंजीकरण होते हैं।



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.