पांच आईआईआईटी को राष्ट्रीय महत्व के संस्थान घोषित करने का विधेयक

Samachar Jagat | Friday, 20 Mar 2020 03:43:21 PM
ill to declare five IIITs as institutions of national importance

नयी दिल्ली ,सरकारी निजी साझेदारी के आधार पर स्थापित किये गये देश के पांच प्रमुख भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईआईटी) को राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों का दर्जा देने के वास्ते भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान विधियां (संशोधन) विधेयक 2०2० आज लोकसभा में पेश किया गया।



loading...

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सदन में यह विधेयक पेश किया जिसमें सूरत, भोपाल, भागलपुर, अगरतला और रायचूर स्थित आईआईआईटी को राष्ट्रीय महत्व के संस्थान घोषित करने का प्रस्ताव किया गया है।

डॉ. पोखरियाल ने विधेयक पेश करते हुए कहा कि देश में 25 आईआईआईटी हैं जिनमें से प्रयागराज, जबलपुर, ग्वालियर, कांचीपुरम, कुर्नूल के संस्थान पूर्णत: केन्द्र द्बारा वित्तपोषित हैं जबकि 2० संस्थान केन्द्र सरकार की 5० प्रतिशत, राज्य सरकार की 35 प्रतिशत और 15 प्रतिशत उद्योग जगत के वित्तीय योगदान को मिला कर स्थापित किये गये हैं और इनमें उद्योग जगत की जरूरतों के अनुसार उनसे मिलकर पाठ्यक्रम तैयार किया जाता है और इस प्रकार से इन संस्थानों में बाज़ार की जरूरतों के हिसाब से पेशेवर तैयार हो रहे हैं।

चर्चा की शुरुआत करते हुए कांग्रेस के के. सुरेश ने विधेयक का स्वागत किया। उन्होंने आरक्षण की स्थिति की उल्लेख किया और कहा कि इन संस्थानों में अनुसूचित जाति के 5० प्रतिशत और अनुसूचित जनजाति के 7० प्रतिशत छात्र छात्राएं आरक्षण के बिना नहीं प्रवेश पा सकते थे।

loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.