jaipur : पिता को शराब पिलाई और कुल्हाड़ी से उसे निर्ममतापूर्वक मार डाला

Samachar Jagat | Wednesday, 18 Jan 2023 05:06:03 PM
jaipur : Got father drunk and brutally killed him with an ax

जयपुर। परिवार में लड़का होने पर खुशियां इसी मारे मनाई जाती है कि बड़ा कर वह उनकी सेवा करेगा। उनका वंश बढाएगा। मगर संपत्ति के लोभ में अब यह रिश्ता कोई मायने नहीं रखने लग है। इस तरह के क्राइम होने लगे हैं, ऐसा ही एक मामला बोरी नामक गांव का है। जहां एक परिवार आराम के दिन काट रहा था। मगर तभी वहां शराब की लत ने परिवार का माहोल बिगाड़ दिया । काश्तकार की लत ने घर की पूंजी को बेचना शुरू कर दिया। परिवार में बड़े पुत्र ने कई बार कोशिश की।

उसे समझाने का प्रयास किया, इसके बाद भी अपनी कोठी  की पुश्तेनी आठ एकड़ जमीन को लुक- छुप कर बेच दिया। इसके बाद जब शराब खरीद ने के पैसे नहीं होने पर बाकी बची ढाई बीघा जमीन का सौदा करने प्रयास करने लगा। मगर तभी उसके पुत्र को इसकी भनक लग गई। उसने अपने मामा को इस मामले की जानकारी दी। साथ ही कहा कि या तो मेरे पिता को आप समझा दो वरना मुझे ही कुछ करना पड़ेगा। तब तक परिजनों को इस बात की भनक नहीं हुई और सोचा कि जमीन को लेकर बाप बेटों के बीच छत्तीस का आंकड़ा था। आए दिन दोनांे के बीच मारपीट होने लगी। आरोपी युवक ने सोचा कि उसका पिता नहीं सुधर सकता। परिवार को पालने के बजाए शराब के नश्ो में बहता रहेगा । फिर एक दिन यह भी आ जाएगा कि वे भूमिहीन हो जाएंगे। घर भी बिक जाएगा। 

कहा जाता है कि पुत्र को तभी एक दिन पिता को सबक सिखाने का मौका मिल गया और अपने बाप को अपने मामा के घर बुला लिया। शाम को उन्होने साथ- साथ ही खाना खाया। इसके बाद दोनों बातचीत के लिए घर की छत्त पर चले गए। इस बीच फिर से जमीन की बिक्री का मामला सामने आ गया। पिता की जिद थी कि यह संपत्ति उसक ी अकेले की है। इसका वो जो ठीक समझेगा। पुत्र ने इसका विरोध किया। वह बोला कि परिवार के पालन पोषण की जिम्मेदारी आपकी ही है। इनके पालन पोषण और शिक्षा दिलाने जैसे जरूरी काम हर पिता ही किया करता है। आपकों भी यह कार्य करना ही होगा।

बातचीत करते समय पिता और पुत्र ने फिर से शराब पीनी शुरू कर दी। क्षमता से अधिक शराब पीने पर पिता अचेत हो गया। बाद में उसे उठाकर छत्त से नीचे फंेक दिया। इसके बाद वह छत्त से नीचे उतरा और पिता की नब्ज देखने लगा। उसे जब इस बात का अहसास हुआ कि उसका बाप अभी भी जिंदा है तो वह घर के आंगन में कुल्हाड़ी ले आया और अपने पिता के शरीर को काटने लग गया। उसकी गर्दन,हाथ- पांव सभी को काट दिए। उसे जब लगा कि मामला मर्डर का होने पर पुलिस उसे गिरफतार कर लेगी। अपनी करतूत छिपाने के लिए शव को घर के बाड़े में ले जाकर उसे जमीन में गाढ दिया। वारदात के बाद वह अपनी मोटरसाइकिल लेकर अपने गांव पहुंच कर सामान्य व्यवहार करने लगा। 

एएसपी ग्रामीण अनंत कुमार ने बताया कि बोरी थाना क्षेत्र के रहने वाले सूरज पटेल (21वर्ष) को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी पिछले 15 सालों से अपने पिता पवन पटेल (45 वर्ष) से अलग रह रहा है। पवन पटेल ने अपनी नशे की लत को पूरा करने के लिए पुश्तैनी 8 एकड़ जमीन बेच दी। ढाई एकड़ जमीन ही बची थी वो उसके लिए भी ग्राहक तलाश रहा था। जब इसकी जानकारी सूरज को हुई तो उसने 12 जनवरी की रात पिता को अपने मामा के घर बुलाया। वहां छत पर बैठकर दोनों ने देर रात तक शराब पी। इसी दोरान सूरज ने पिता को जमीन नहीं बेचने के लिए समझाया। इस पर पवन पटेल सूरज से झगड़ा करने लगा। गुस्से में आकर सूरज ने अपने पिता को छत से नीचे फेंक दिया।

इसके बाद वो नीचे आया और बेसुध हालत में पड़े पिता को घर से डेढ़ सौ मीटर दूर अपने मामा के बाड़ी में ले गया। वहां उसने कुल्हाड़ी से काटकर उसकी हत्या कर दी और फिर शव को गढ्ढा खोदकर गाड़ दिया। इस कांड का खुलासा उस वक्त हुआ जब आरोपी, अपने मामा की मोटरसाइकिल लेकर घर के लिए रवाना हो गया था। इसकी आवश्यकता होने पर उसने अपने भानजे को खोजा तो वह अपने घर में सोया हुआ पाया। उसे जगा कर जब मामा ने इस बात की पूछताछ की कि मोटर साइकिल पर खून कैसे लगा। इस पर युवक गोलमाल जवाब देने लगा। मामा ने इस पर इस मामले की सूचना पुलिस को दे दी। 

पुलिस ने सूरज को गिरफ्तार किया और सख्ती से पूछताछ की। इस पर उसने अपने पिता की हत्या करना कबूल कर लिया। सूरज ने बताया कि वो पिता की हत्या करने के लिए मजबूर हो गया था। उसका पिता पूरी जायदाद को नशे में बर्बाद कर चुका था। बची हुई जमीन भी बेचने जा रहा था। घटना की रात भी वो उसे समझाने के लिए गया था। उसने पिता के कहने पर ही उसे शराब पिलाई। उसे जमीन न बेचने के लिए समझाया तो झगड़ा करने लगा। इसलिए गुस्से में आकर उसने उसकी हत्या कर दी। सूरज के बताने पर पुलिस के अधिकारियों ने सूरज पर दबाव डाला कि तेरे पिता की लाश को तूने कहां गाढा। कोई दस फिट की गहराई में लाश बरामद हो गई। इसके बाद पंचनामा कार्रवाई कर उसे पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल के मुर्दाघर में भिजवा दिया।

पुलिस के सूत्र आगे बताते हैं कि यहां आरोपी पेश्ोवर अपराधी की श्रेणी में नहीं आता है। मगर फिर पिता की हत्या करने पर उस पर मर्डर का केस दर्ज करके कोर्ट में पेश किया। मजिस्ट्रेट के आदेश पर उसे न्यायायिक हिरासत में भिजवा दिया।  घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी सूरज घर चला गया था। अगले दिन 13 जनवरी को उसका मामा रामकुमार अपनी बाड़ी में फसल को पानी देने गया था। इसी दौरान उसने उसकी बाइक पर काफी मात्रा में खून लगा देखा। यह बाइक घटना के दिन सूरज ही लेकर गया था। इसलिए मामा रामकुमार ने सूरज से पूछताछ की। इस पर सूरज अपने मामा को गोलमोल जवाब देने लगा तो रामकुमार बोरी थाने पहुंचा और मामले की शिकायत की। पुलिस ने जब खून की जांच की तो वो मानव खून मिला। इसके बाद आरोपी को गिरफ्तार किया गया।



 

Copyright @ 2023 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.