पिछले तीन साल विकास की दिशा में मील का पत्थर :भगत

Samachar Jagat | Wednesday, 18 Mar 2020 02:53:50 PM
Milestone towards development in last three years: Bhagat

देहरादून, उत्तराखंड भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष बंशीधर भगत ने राज्य सरकार के तीन वर्षों के कार्यकाल को राज्य के विकास की दिशा में मील का पत्थर बताया है।



loading...

श्री भगत ने मंगलवार को यहां कहा कि भाजपा सरकार के तीन वर्षों के कार्यकाल में ऐतिहासिक और दूरगामी महत्व के निर्णय लिए गए हैं।

 राज्य सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ को अपना ध्येय वाक्य माना है और राज्य के हर वर्ग तथा हर क्षेत्र के विकास के लिए तमाम जन कल्याणकारी योजनाएं संचालित की हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार ने एक ओर जहां संस्थागत सुधार के लिए व्यापक कदम उठाए हैं, वहीं दूसरी तरफ विकास का लाभ अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक पहुंचाने का प्रयास भी किया है।


उन्होंने कहा कि सरकार ने भ्रष्टाचार मुक्त सुशासन सुनिश्चित करने के लिए एक पारदर्शी कार्य संस्कृति विकसित की। विभिन्न विभागों में अनियमितताओं की समयबद्ब जांच कर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की। उन्होंने कहा कि सरकार की सबसे बडीè सौगात राज्य के सभी नागरिकों को 'अटल आयुष्मान योजना’ के तहत स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना है।

 गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित कर भाजपा सरकार ने राज्य आंदोलन के शहीदों और जन भावनाओं को उचित सम्मान दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने राज्य में पहली बार इन्वेस्टर्स समिट आयोजित कर बड़ी संख्या में निवेशकों को आमंत्रित कर निवेश के द्बार खोले हैं।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार ने पिछले तीन वर्षो में विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन कर राष्ट्रीय फलक में अपनी पहचान बनायी है।

 राज्य की प्रति व्यक्ति आय वर्ष 2०18 - 2०19 में 1,98,738 रुपये है, जोकि राष्ट्रीय औसत 72,332 रुपये से अधिक है। नीति आयोग द्बारा जारी 'भारत नवाचार सूचकांक -2०19’ में पूर्वोत्तर एवं पहाडीè राज्यों की श्रेणी में उत्तराखण्ड सर्वश्रेष्ठ तीन राज्यों में शामिल है।

श्री भगत ने कहा कि भाजपा सरकार के तीन वर्षों में शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यटन, आधारभूत ढांचे के विस्तार के साथ-साथ पलायन रोकने के लिए योजनाबद्ब तरीके से कार्य किया गया। स्थानीय संस्कृति और परम्पराओं के संरक्षण के लिए उनको रोजगार से जोड़ने के लिए 'होम स्टे’ जैसी योजनाओं को प्राथमिकता दी गयी।

 उत्तराखंड जल प्रबंधन योजना के तहत जल स्रोतों के पुनर्जीवन और जलाशयों व झीलों का निर्माण किया जा रहा है। किसानों की खुशहाली के लिए तमाम योजनाएं संचालित कर उन्हें ब्याज रहित ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है।

 महिलाओं, युवाओं, व्यापारियों, अनुसूचित जाति, जनजाति तथा अल्पसंख्यक समुदायों के विकास के लिए भाजपा सरकार ने कई पहल की हैं।

loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.