मथुरा में लावारिस शवों के लियेे संस्था ने उपलब्ध कराये बैग

Samachar Jagat | Sunday, 26 Jul 2020 03:16:01 PM
The institution provides bags for unclaimed dead bodies in Mathura

मथुरा। उत्तर प्रदेश के मथुरा में समाज सेवा के क्षेत्र में एक लम्बे समय से लगे प्रभूदयाल कसेरे चैरिटेबिल ट्रस्ट ने कोरोना संक्रमण रोकने के मद्देनजर लावारिस शवों को ले जाने के लिये बैग उपलब्ध कराये है।
ट्रस्ट के मुख्य ट्रस्टी अनुज गर्ग ने शनिवार को यहां बताया कि सामान्यतया लावारिस शवों को पोस्टमार्टम गृह तक ले जाने में समस्या आती है। शवों को कपड़े में पैक किया जाता है। कई बार इनसे टपकता खून देखनेवालों को भी द्रवित कर देता है। करोना के संक्रमण के दौराना यह समस्या और गंभीर हो गई है।
उन्होंने बताया कि इसके लिए संस्था ने कोरोना संक्रमित मृत शरीर के अंतिम संस्कार के लिये ससम्मान अंतिम विदाई तथा फैलने वाले संक्रमण की रोकथाम के लिए ट्रस्ट द्बारा मथुरा की पुलिस को 1०० बैग दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि ये बैगविशेष रुप से रिलान्यस की फैव्रिक के विशेष रुप से डिजायन किए हुए है। डेड बॉडी बैग में तीन साइड से चेन लगे हैं, जिन्हें खोलकर मृत शरीर को आसानी से रखा जा सकता है। उसकी शिनाख्त के लिये एक तरफ से चेन खोलकर आसानी से की जा सकती है। उन्होंने बताया कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. गौरव ग्रोवर जी के निर्देश पर मथुरा रिजर्व पुलिस लाइन मथुरा के प्रतिसार निरीक्षक राम अवतार सिह को 1०० डेड वॉडी बैेग प्रदान किए।
श्री गर्ग ने बताया कि ट्रस्ट द्बारा दिल्ली में भी इस तरह के 6०० डेड बॉडी बैग मृत शवों की सम्मान पूर्वक विदाई के लिऐ उपलब्ध कराए गए गए थे। उनका कहना था कि ट्रस्ट की ओर से ब्रज क्षेत्र के के कुछ अन्य जिलों को इस प्रकार के बैग उपलब्ध कराये जाने की योजना है। उन्होंने बताया कि वेैसे तो यह कार्य वे पिछले दस साल से कर रहे हैं लेकिन उस समय के बैग की गुणवत्ता और आज की गुणवत्ता में जमीन आसमान का अंतर है।
रिजर्व पुलिस लाइन मथुरा के प्रतिसार निरीक्षक राम अवतार सिह ने बैग प्राप्त करने के बाद इन्हें कोरोनावायरस संक्रमण के दौराना विशेष उपयोगी बताया ।उनका कहना था कि ये बैग हर मौसम में भी उपयोगी हैं। 




 
loading...
loading...

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.