UP: मांझरा पूरब में दहशत का पर्याय बनी बाघिन पकड़ी गई

Samachar Jagat | Tuesday, 28 Jun 2022 03:19:27 PM
UP: A tigress synonymous with panic was caught in Manjhra East

लखीमपुर खीरी | उत्तर प्रदेश के लखीमपुर-खीरी जिले में दुधवा बाघ अभयारण्य (डीटीआर) बफर जोन के मांझरा पूरब इलाके में पिछले कुछ दिनों से दहशत का पर्याय बनी दो बाघिनों में एक को पकड़ लिया गया है। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। कतर्नियाघाट के उपमंडल अधिकारी (एसडीओ) अमित कुमार ने 'पीटीआई-भाषा’ को बताया कि बाघिन को सोमवार देर रात वन विभाग द्बारा बनाए गए पिजरे में कैद कर लिया गया।

कुमार के मुताबिक, पकड़ी गई बाघिन को कतर्नियाघाट वन्यजीव अभयारण्य ले जाया गया है और आगे की कार्रवाई अधिकारियों के निर्देशानुसार की जाएगी। गौरतलब है कि बाघिन 18 से 27 जून के बीच दुधवा बफर जोन में मांझरा पूरब के जंगलों के करीब खैरतिया क्षेत्र में चार लोगों की जान ले चुकी है। बाघिन ने 18 जून को स्थानीय पुजारी मोहन दास को खैरतिया-मांझरा मार्ग स्थित मंदिर परिसर में मार डाला था, जबकि 23 जून को उसने खैरतिया गांव के पास 14 वर्षीय सूरज सिह की जान ले ली थी।

27 जून को बाघिन ने नरेंद्रनगर बेली गांव में 33 वर्षीय युवक नागेंद्र सिह और 43 वर्षीय महिला मिदर कौर को मार डाला था। एक के बाद एक चार लोगों की मौत ने ग्रामीणों के साथ-साथ वन अधिकारियों को भी झंकझोर कर रख दिया था। दुधवा के फील्ड निदेशक संजय कुमार पाठक ने 'पीटीआई-भाषा’ को बताया, “उत्तर प्रदेश के मुख्य वन्यजीव संरक्षक को एक रिपोर्ट भेजी गई थी, जिन्होंने मानव जीवन पर मंडराते खतरे को देखते हुए बाघिन को पकड़ने की अनुमति दी थी।” पाठक के मुताबिक, सघन तलाशी, गश्ती और ड्रोन व कैमरों से की गई निगरानी के दौरान क्षेत्र में दो बाघिनों की आवाजाही देखी गई थी, जिनमें एक को पकड़ लिया गया है। 



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.