जौंनपुर में मनाया गया विश्व गौरैया दिवस

Samachar Jagat | Friday, 20 Mar 2020 03:02:40 PM
World Sparrow Day was celebrated in Jaunpur

जौनपुर ,उत्तर प्रदेश के जौनपुर में शुक्रवार को घरों में चहकने और फुदकने वाली लुप्तप्राय गौरैया को बचाने के लिये एक संगोष्ठी का अयोजन किया गया।



loading...

गौरैया दिवस पर आयोजि संगोष्ठी को संबोधित करते हुये काशी हिदू विश्व विद्यालय, वाराणसी के एसोसियेट प्रोफेसर डॉ० आर एन त्रिपाठी ने कहा है कि गौरैया का जीवन मानव जीवन को प्रेरणा देती है।

घरों में चहकने और फुदकने वाली गौरैया आज लुप्तप्राय हो गयी है। हमें इसे बचाने और इसकी संख्या बढ़ाने के लिए आगे आना होगा।

उन्होंने कहा कि शहरीकरण तथा लोगों की जीवनशैली में बदलाव के कारण घर-घर में, गॉंवों तथा छतों पर चहकने वाली गौरैया की संख्या में कुछ सालों में काफी कमी आई है।

प्रोफेसर त्रिपाठी ने कहा कि घर-घर में फुदक-फुदक कर चहकने वाली गौरैया संरक्षण के प्रति लोगों का जागरूक करने के लिये 2० मार्च को जौंनपुर में विश्व गौरैया दिवस के रूप में मनाया गया।

उन्होंने कहा कि पहले घरों में रौशनदान, अटारी, टीन की छतें आदि बनाई जाती थी, जिनमें गौरैया अपना घोसला बनाती थी। जीवनशैली में बदलाव के कारण यह प्रजाति विलुप्त होती जा रही है। शहरों के बाहर खुले स्थल, बाग-बगीचों का कम होना एवं बढ़ती आबादी, शहरीकरण तथा वाहन प्रदूषण के कारण गौरैया की संख्या में कमी होती जा रही है।

उन्होंने कहा कि प्रकृति की अनमोल धरोहर गौरैया को बचाने के लिए घोसलों की व्यवस्था करनी होगी, तभी यह पक्षी पुन: घर ,आंगन व छतों पर चहचहाती दिखाई पड़ेंगी। उन्होंने कहा कि गौरैया के महत्व को देखते हुए जौनपुर समेत प्रदेश के और जिलों में आज विश्व गौरैया दिवस मनाया जा रहा है।

loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.