Bollywood : कारपेंटर का काम करते-करते फिल्में डायरेक्ट करने लगे थे, फिर 100 से भी ज्यादा फिल्मों के आर्ट डायरेक्टर रहे, सौदागर से मिली थी पहचान, 92 साल की उम्र में कोरोना से हुआ निधन

Samachar Jagat | Tuesday, 01 Jun 2021 04:45:13 PM
Bollywood : Started directing films while working as a carpenter, then was an art director of more than 100 films, got recognition from Saudagar, maruti rao kale passes away died of corona at the age of 92

एंटरटेनमेंट डेस्क। कोरोना के कारण देश के एक के बाद एक कई बड़ी सिने हस्तियां विदा हो रही हैं। आज मंगलवार को मुंबई में बॉलीवुड के जाने-माने आर्ट डायरेक्टर मारूतिराव काले का कोरोना संक्रमण से निधन हो गया। उन्होंने‌ मुम्बई के एक निज में 92 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, स्वतंत्र आर्ट डायरेक्टर के रूप से 'ईमान धरम' उनकी पहली फिल्म थी. जिसके बाद उन्होंने 'डिस्को डांसर', 'कसम पैदा करनेवाले की', 'डांस डांस', 'कमांडो', 'अजूबा', 'सौदागर' जैसी तमाम बड़ी और हिट फिल्मों के लिए मुख्य आर्ट डायरेक्टर के तौर पर सेट्स डिजाइन किये। इस दौरान सौदागर फिल्म के सेट से उन्हें बड़ी पहचान मिली थी।

इसके अलावा राव ने 'दीवार', 'रोटी कपड़ा और मकान', 'कभी कभी' 'दो अंजाने', 'रजिया सुल्तान', 'पाकिजा, 'शोर', 'पूरब और पश्चिम', 'मेरा साया', 'यादगार', 'जांबांज' जैसी फिल्मों में बतौर असिस्टेंट आर्ट डायरेक्टर काम किया था। वे 100 से भी ज्यादा फिल्मों के लिए बतौर आर्ट डायरेक्टर रहे। आर्ट डायरेक्टर से पहले मारूतिराव काले एक कार्पेंटर थे। इस दौरान उन्होंने कई कार्पेंटर की कई भूमिकाएं भी निभाई। 1960 सुपरहिट फिल्म 'मुगल-ए-आजम' के लिए भी बतौर कार्पेंटर काम किया था। 

 

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.