Happy Birthday Ravi Kishan: पिता नहीं चाहते थे रवि किशन करे एक्टिंग, फिर इस शख्स के कारण चमकी किस्मत

Samachar Jagat | Saturday, 17 Jul 2021 10:47:36 AM
Father didn't want Ravi Kishan to act, then luck got brightened because of this person

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर सुपरस्टार रवि किशन एक ऐसे अभिनेता हैं जिन्हें आज हर कोई जानता है। उन्होंने भोजपुरी के अलावा बॉलीवुड इंडस्ट्री और दक्षिण भारतीय फिल्मों में काम करके अपनी अलग पहचान बनाई है। उन्होंने अपने शानदार अभिनय से सभी का दिल जीत लिया है। उन्होंने बड़े स्टार्स के साथ काम किया है। लेकिन एक समय था जब रवि के पास काम नहीं था। रवि किशन उस मुश्किल वक्त को आज तक नहीं भूले हैं क्योंकि वो इस मुश्किल घड़ी से लड़कर इस मुकाम तक पहुंचे हैं. रवि किशन आज अपना 52वां जन्मदिन मना रहे हैं। रवि का जन्म 17 जुलाई 1969 को मुंबई में हुआ था। रवि किशन के जन्मदिन पर हम आपको उनके संघर्ष के बारे में बताते हैं।

उसी रवि किशन के संघर्ष के दिनों के बारे में जानने पर सभी की आंखों में आंसू आ जाते हैं। रवि किशन को कम उम्र से ही अभिनेता बनना पड़ा था। वह अमिताभ बच्चन के बहुत बड़े फैन थे। अमिताभ बच्चन के प्रदर्शन को देखने के बाद ही रवि ने रामलीला में सीता की भूमिका निभानी शुरू की। रवि किशन के पिता को उनका अभिनय बिल्कुल भी पसंद नहीं आया जिसके कारण उन्हें कई बार डांट भी खानी पड़ी।

 

 

View this post on Instagram

A post shared by Ravi Kishan (@ravikishann)

 


रवि किशन ने एक इंटरव्यू में कहा था कि अभिनय के जुनून के लिए उन्हें उनके पिता ने कई बार पीटा था। जब उनके पिता ने अभिनय करने से इनकार कर दिया, तो वह अपनी मां से 500 रुपये लेकर घर से मुंबई भाग गए। रवि किशन को हमेशा उनकी मां का साथ मिलता था। वह चाहती थी कि रवि उसका सपना पूरा करे। रवि किशन सिर्फ 500 रुपये लेकर मुंबई आ गए। समय के साथ पैसे खत्म होते जा रहे थे और रवि को काम नहीं मिल रहा था। जिसके चलते वह रोजाना मुंबई में खाने के लिए काम ढूंढते थे। काम मिलता तो खाना खा लेते, नहीं तो भूखे सो जाते। रवि उस समय 10 गुणा 12 फीट के कमरे में रहता था। काफी स्ट्रगल के बाद रवि किशन को बी ग्रेड फिल्म पीतांबर में काम मिला। ऐसा नहीं था कि उन्हें पहली फिल्म मिलने के बाद ही सफलता मिली थी। पीतांबर के बाद भी रवि को काफी संघर्ष करना पड़ा। वह छोटे-छोटे किरदार निभाते थे। वह छोटे-मोटे रोल करते थे। उन्हें थोड़ा सा काम मिलने लगा और दिन-ब-दिन बढ़ते ही चले गए।



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.