ब्राजील में बाहिया, आस पास के क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति गंभीर हुई

Samachar Jagat | Wednesday, 29 Dec 2021 09:42:27 AM
Bahia in Brazil, flood situation worsens in surrounding areas

ब्रासीलिया। ब्राजील के पूर्वोत्तर राज्य बाहिया के कुल 116 शहरों में भारी बारिश के कारण मंगलवार को आई बाढ़ से आपात स्थिति पैदा हो गई है। नवंबर के अंत से क्षेत्र में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं।
ब्राजील के उत्तर और दक्षिणपूर्व में कम से कम पांच अन्य राज्यों के शहर भी हाल के दिनों में बाढ़ग्रस्त रहे है।

बाहिया में बाढ़ से 470 ,000  से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। कम से कम 5० शहरों में घरों और कारोबारी प्रतिष्ठानों में पानी भर गया और लोगों को अपना सामान छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा। राज्य सरकार के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार 34,163 लोग बेघर हो गए हैं और लगभग 43,000  लोग विस्थापित हो गए हैं। बाढ़ की वजह से महीने की शुरुआत से अब तक कुल 21 लोगों की मौत हुई है और 358 लोग घायल हुए हैं।

सरकारी एजेंसी 'नेशनल सेंटर फॉर मॉनिटरिग एंड अलर्ट्स ऑफ नेचुरल डिजास्टर्स’ की वेबसाइट के अनुसार, पिछले 32 वर्षों में बाहिया में सबसे अधिक बारिश दर्ज की गई है। दक्षिणी बाहिया में वर्ष के इस समय सामान्य मात्रा से पांच गुना अधिक बारिश हुई।

बाहिया के गवर्नर रुई कोस्टा ने मंगलवार सुबह स्थानीय रेडियो स्टेशनों पर एक साक्षात्कार में स्थिति की तुलना ''बमबारी’’ से की। 

उन्होंने कहा कि कुछ शहरों में बाढ़ में कोरोना वायरस के टीके नष्ट हो गए, ''कुछ नगरपालिका स्वास्थ्य कार्यालय और दवा डिपो पूरी तरह से पानी में डूब गए हैं।’’

बाहिया के नागरिक सुरक्षा अधीक्षक कर्नल मिगुएल फिल्हो ने बताया कि अब भी बाढ़ जैसे हालात हैं और शहर अलग-थलग पड़ गए हैं तथा बारिश अब भी जारी है। उन्होंने कहा, ''हमारी पहली प्रतिक्रिया लोगों की मदद करना है, फिर आश्रय देना, आश्रय स्थलों में लोगों की देखभाल के लिए मानवीय सहायता, चादरें, कंबल, भोजन उपलब्ध कराना है।’’ उन्होंने कहा कि बाहिया में कम से कम पांच बांधों के टूटने का खतरा है।

सरकार के विज्ञान मंत्रालय ने पिछले सप्ताह एक बयान में कहा कि औसत से अधिक वर्षा वायुमंडलीय घटना ला नीना के कारण होती है, जिससे बाहिया सहित ब्राजील के कुछ क्षेत्रों में वर्षा बढ़ जाती है।
एक प्रमुख जलवायु विज्ञानी कार्लोस नोब्रे ने बताया कि बाहिया में वर्तमान हालात ग्लोबल वाîमग के कारण हैं। 



 
loading...

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.