गांधी, मार्टिन लूथर किग जूनियर की विरासतों के प्रचार संबंधी विधेयक अमेरिकी कांग्रेस समिति में पारित

Samachar Jagat | Thursday, 30 Jul 2020 10:16:02 AM
Gandhi, Martin Luther King Jr.'s bill promoting the legacies passed in the US Congress Committee

वाशिगटन। अमेरिकी कांग्रेस की एक प्रमुख समिति ने महात्मा गांधी और मार्टिन लूथर किग जूनियर की विरासतों का प्रचार करने के लिए नागरिक अधिकारों के पैरोकार जॉन लेविस द्बारा लिखा एक विधेयक बुधवार को पारित कर दिया।


भारतीय-अमेरिकी सांसद अमी बेरा द्बारा अनुमोदित 'गांधी-किग एक्सचेंज एक्ट’ को सदन की विदेश मामलों की समिति ने पारित किया। इस विधेयक में महात्मा गांधी और मार्टिन लूथर किग जूनियर के काम और विरासतों का अध्ययन करने के लिए अमेरिका तथा भारत के बीच आदान-प्रदान की पहल करने का प्रावधान है।
बेरा ने कहा, ''जॉन लेविस न केवल अमेरिका बल्कि दुनियाभर में नागरिक अधिकारों के नायक थे। वह सभी के लिए मानवाधिकार, समानता, न्याय तथा लोकतंत्र के लिए लड़े। गांधी और डॉ. किग की तरह कांग्रेस सदस्य लेविस ने अहिसा के अपने कामों के जरिए दुनिया को आकार दिया और उनकी जीवन गाथा पूरे इतिहास में गूंजेगी।’’


इस विधेयक से अमेरिका के विदेश विभाग को भारत सरकार के साथ मिलकर दोनों देशों के शोधार्थियों के लिए वार्षिक शैक्षिक मंच स्थापित करने का अधिकार मिल जाएगा। यह शैक्षिक मंच मोहनदास करमचंद गांधी और मार्टिन लूथर किग जूनियर की विरासतों पर केंद्रित होगा।
लेविस ने डॉ. किग की भारत यात्रा की 5०वीं वर्षगांठ पर भारत में एक प्रतिनिधिमंडल का 2००9 में नेतृत्व किया था।
इस यात्रा से प्रेरित होकर उन्होंने संघर्ष के समाधान की कोशिशों और मौजूदा नीति में बदलावों के लिए गांधी और डॉ. किग जूनियर के सिद्धांतों को लागू करने के मकसद से इस विधेयक को तैयार किया।
लेविस का 17 जुलाई को 8० साल की उम्र में निधन हो गया। (एजेंसी)



 
loading...
loading...

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.