Kamala Harris विवादित समुद्री क्षेत्र के पास फिलीपीन द्बीप की यात्रा करेंगी

Samachar Jagat | Tuesday, 22 Nov 2022 11:03:33 AM
Kamala Harris will visit the Philippine Islands near the disputed sea area

प्यूर्तो प्रिंसेसा : अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस विवादित दक्षिण चीन सागर के किनारे पर स्थित पश्चिमी फिलीपीन के एक द्बीपीय प्रांत की मंगलवार को यात्रा करेंगी। हैरिस का यह दौरा अपने सहयोगी फिलीपीन के प्रति अमेरिका के समर्थन को मजबूत करने और विवादित जल क्षेत्र में नौवहन की आजादी में अमेरिका के हितों पर जोर देने की कवायद का हिस्सा है।

अमेरिका विवादित समुद्री क्षेत्र में चीन की आक्रामक कार्रवाई का हमेशा विरोध करता रहा है। हैरिस की यात्रा से पहले विवादित समुद्री क्षेत्र में उस समय एक नया टकराव पैदा हो गया, जब फिलीपीन की नौसेना ने आरोप लगाया कि चीन के तटरक्षक बल के एक जहाज ने चीनी रॉकेट के मलबे को जबरन अपने कब्जे में ले लिया। फिलीपीनी नौसैनिक इस मलबे को अपने द्बीप पर ले जा रहे थे। बहरहाल, चीन ने मलबे को जबरन कब्जे में लेने से इनकार किया है। उसने कहा है कि यह मलबा हाल ही में प्रक्षेपित किए गए एक चीनी रॉकेट का था और फिलीपीनी सेना ने ''मैत्रीपूर्ण विचार-विमर्श’’ के बाद इसे चीन को सौंपा है।

चीन ने अमेरिका को पूरी तरह से एशियाई इस विवाद में दखल न देने की चेतावनी दी और कहा कि विवादित जल क्षेत्र में अमेरिकी नौसेना और वायु सेना के युद्धक अभ्यास दक्षिण चीन सागर का सैन्यीकरण कर रहे हैं। इस क्षेत्र में कुछ विवादित द्बीपों को लेकर चीन का फिलीपीन, वियतनाम, मलेशिया, ताइवान और ब्रूनेई से विवाद है। मनीला में सोमवार को राष्ट्रपति फर्डीनैंड मार्कोस जूनियर के साथ वार्ता में हैरिस ने 1951 की परस्पर रक्षा संधि के तहत फिलीपीन की रक्षा करने की वाशिगटन की प्रतिबद्धता को दोहराया था। उन्होंने मार्कोस जूनियर से कहा था, ''दक्षिण चीन सागर में फिलीपीन की सशस्त्र सेना, सार्वजनिक जहाज या विमान पर हमले के जवाब में अमेरिका की परस्पर रक्षा प्रतिबद्धताएं लागू होंगी और यह फिलीपीन से हमारा अटूट वादा है।’’

मार्कोस जूनियर ने इसके लिए हैरिस का आभार जताया था। प्यूर्तो प्रिंसेसा के मुख्य शहर पलावन की अपनी यात्रा के दौरान हैरिस एक छोटे मछुआरे समुदाय टगबुरोस से मुलाकात करेंगी और अवैध रूप से मछली पकड़े जाने से उनकी आजीविका पर पड़ने वाले असर को लेकर ग्रामीणों से चर्चा करेंगी। वह अवैध रूप से मछली पकड़ने की गतिविधियों से निपटने, समुद्री निगरानी और खोज एवं बचाव प्रयासों में मदद करने के लिए फिलीपीन की समुद्री कानून प्रवर्तन एजेंसियों को 75 लाख डॉलर की अतिरिक्त सहायता देने की भी घोषणा करेंगी। 



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.