Presidential Election : फिलीपीन के राष्ट्रपति चुनाव में पूर्व तानाशाह के बेटे फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर आगे

Samachar Jagat | Monday, 09 May 2022 10:17:31 AM
Presidential Election : Former dictator's son Ferdinand Marcos Jr. ahead in Philippine presidential election

मनीला |  फिलीपीन में सोमवार को राष्ट्रपति के चुनाव के लिए मतदान जारी है और देश के पूर्व तानाशाह के बेटे तथा सुधारों एवं मानवाधिकारों के समर्थक फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर इस चुनाव में सबसे मजबूत दावेदार बनकर उभरे हैं। फर्डिनेंड मार्कोस जूनियर, 1986 के सेना-समर्थित ''पीपुल पावर’’ विद्रोह में बेदखल किए गए ताकतवर फर्डिनेंड मार्कोस के बेटे हैं। चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों में मार्कोस काफी आगे रहे हैं और उनके मजबूत बढ़त हासिल करने की संभावना प्रबल प्रतीत होती है। हालांकि, उनकी निकटतम प्रतिद्बंद्बी

उपराष्ट्रपति लेनी रोब्रेडो ने अपनी दावेदारी मजबूत करने के लिए लोगों में यह डर पैदा किया कि एक बार फिर किसी अन्य मार्कोस के हाथ में सत्ता की कमान होगी। पूर्व बॉक्सिंग स्टार मैनी पैकियाओ, मनीला के महापौर इस्को मोरेनो और पूर्व राष्ट्रीय पुलिस प्रमुख सेन पैनफिलो लैक्सन सहित आठ अन्य उम्मीदवार मतदाता-वरीयता सर्वेक्षणों में बहुत पीछे हैं। देश के अधिकांश हिस्सों में मतदाताओं की लंबी कतारें दिखीं और किसी तरह की अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली।

हालांकि, सुरक्षा के केंद्र दक्षिणी मागुइंदानाओ प्रांत में अज्ञात लोगों ने रविवार रात दातू उनसे टाउन हॉल परिसर के आसपास कम से कम तीन हथगोले दागे जिसमें नौ ग्रामीण घायल हो गए, जिन्होंने सोमवार को मतदान करने के लिए दूर-दराज के गांवों से यात्रा कर आए थे। पुलिस ने कहा कि पास के शरीफ अगुआक शहर में दो अन्य हथगोले फटे, लेकिन घटना में कोई हताहत नहीं हुआ।

चुनाव में विजयी उम्मीदवार 30 जून को छह साल के कार्यकाल के लिए पदभार ग्रहण करेगा। कोविड-19 के कारण संकट के दौर से गुजर रहे दक्षिण एशियाई देश के लिए कमजोर अर्थव्यवस्था, अत्यंत गरीबी और बेरोजगारी, दशकों से चली आ रही मुस्लिम और कम्युनिस्ट विद्रोह जैसी कई चुनौतिपूर्ण समस्याएं हैं।

निवर्तमान नेता रोड्रिगो दुतेर्ते के खिलाफ मुकदमा चलाने की मांग से कैसे निपटा जाए, यह भी सवाल खड़ा होगा, जिनकी नशीली दवाओं के खिलाफ कार्रवाई में हजारों संदिग्ध मारे गए हैं और अंतरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय द्बारा इसकी जांच की जा रही है। हालांकि, दुतेर्ते की बेटी दक्षिणी दावो शहर की महापौर सारा दुतेर्ते मार्कोस जूनियर के उप-राष्ट्रपति पद की दौड़ में सर्वेक्षण में सबसे आगे हैं।

मार्कोस जूनियर और सारा दुतेर्ते तीन महीने के प्रचार अभियान में इस तरह के अस्थिर मुद्दों से दूर रहे, भले ही उनके पिता के नेतृत्व ने देश के इतिहास में सबसे अशांत माहौल पैदा किए। चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने को लेकर हजारों पुलिस और सैन्य कर्मियों को चुनाव परिसर को सुरक्षित करने के लिए तैनात किया गया है, खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में जहां हिसक राजनीतिक प्रतिद्बंद्बिता का इतिहास रहा है और जहां कम्युनिस्ट और मुस्लिम विद्रोही सक्रिय हैं। 



 
loading...


Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.