Ukraine & Russian War : यूक्रेन की रूसी सैनिक पर युद्ध अपराध का मुकदमा चलाने की योजना

Samachar Jagat | Thursday, 12 May 2022 10:37:01 AM
Ukraine and Russian War : Ukraine plans to prosecute Russian soldier for war crimes

जापोरिज्जिया (यूक्रेन) | यूक्रेन की शीर्ष अभियोजक ने बंधक बनाए गए रूस के एक सैनिक पर युद्ध अपराध का मुकदमा चलाने की योजनाओं का बुधवार को खुलासा किया। उसने देश के पूर्वी और दक्षिण हिस्से में लड़ाई तेज होने के बीच यह घोषणा की है। महा अभियोजक इरिना वेनेदिक्तोवा ने बताया कि उनके कार्यालय ने सार्जेंट वादिन शिशिमारिन (21) पर 62 वर्षीय निहत्थे नागरिक की हत्या का आरोप लगाया। इस नागरिक की युद्ध शुरू होने के चार दिन बाद फरवरी में एक साइकिल पर जाते वक्त गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी।

वेनेदिक्तोवा ने बताया कि रूसी सैनिक को 15 साल की जेल की सजा हो सकती है। बहरहाल, उन्होंने यह नहीं बताया कि मुकदमे की सुनवाई कब शुरू होगी। उनके कार्यालय ने बताया कि वह रूसी सेनाओं द्बारा किए गए 10,700 से अधिक कथित युद्ध अपराधों की जांच कर रहा है और उसने 600 से अधिक संदिग्धों की पहचान की है। कई कथित अत्याचारों का पता पिछले महीने लगा, जब रूसी सेनाओं ने कीव पर कब्जा जमाने की अपनी कवायद रोक दी और राजधानी के आसपास के इलाकों से जाना शुरू कर दिया, जिसके बाद बुचा जैसे शहरों में सामूहिक कब्रों का खुलासा हुआ।

निवासियों ने हत्याओं, आग लगाने, दुष्कर्म, प्रताड़ना और लोगों के अंगच्छेदन की घटनाओं के बारे में बताया।'सेंटर फॉर सिविल लिबर्टीज’ के वोलोदिमरी यावोर्स्की ने कहा कि यूक्रेन का मानवाधिकार समूह यह देखने के लिए शिशिमारिन के मुकदमे पर करीबी नजर रखेगा कि क्या यह निष्पक्ष है। उन्होंने कहा, ''युद्ध के वक्त में अदालत की कार्यवाहियों की निष्पक्षता और सभी नियमों का पालन करना बहुत मुश्किल है।’’
वहीं, आर्थिक मोर्चे पर यूक्रेन ने बुधवार को एक केंद्र के माध्यम से रूस के प्राकृतिक गैस के प्रवाह को रोक दिया।

इस बीच, दक्षिणी खेरसॉन क्षेत्र में क्रेमलिन द्बारा नियुक्त नेता ने कहा कि वहां अधिकारी चाहते हैं कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन खेरसॉन को रूस का एक ''उचित क्षेत्र’’ बनाएं, यानी उस पर कब्जा जमाए।
इससे ऐसी आशंका पैदा हो गयी है कि क्रेमलिन यूक्रेन से एक और हिस्सा छीनेगा। रूस ने खेरसॉन क्षेत्र की सीमा से लगते क्रीमियाई प्रायद्बीप पर 2014 में कब्जा कर लिया था।

वहीं, खेरसॉन में लोग रूस के कब्जे की निदा करते हुए सड़कों पर उतर आए, लेकिन एक शिक्षिका ने नाम न उजागर करने की शर्त पर बताया कि ऐसे प्रदर्शन अब असंभव हैं क्योंकि मॉस्को के सैनिकों ने ''यूक्रेन के रंग या रिबन पहनने वाले कार्यकर्ताओं तथा नागरिकों का अपहरण कर लिया है।’’ उन्होंने कहा, ''खेरसॉन में सभी लोग जल्द से जल्द हमारी सेना के आने का इंतजार कर रहे हैं। कोई भी रूस में रहना या उसमें शामिल होना नहीं चाहता है।’’

युद्ध के मोर्चे पर यूक्रेनी अधिकारियों ने बताया कि रूस के एक रॉकेट ने जापोरिज्जिया के आसपास के एक इलाके को निशाना बनाया, जिससे एक अज्ञात ढांचा नष्ट हो गया है। अभी किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। यह दक्षिणपूर्वी शहर यूक्रेन के तबाह हो चुके बंदरगाह शहर मारियुपोल से भागकर आए नागरिकों की शरणस्थली बन गया है। 



 
loading...

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.