वायरस प्रकोप: ईरान, दकोरिया के यात्रियों पर रूस का प्रतिबंध

Samachar Jagat | Friday, 28 Feb 2020 05:25:00 PM
Virus outbreak: Russia, Russia ban on travelers to Iran, Dacoria

मॉस्को। रूस ने कोरोना वायरस के प्रकोप से बुरी तरह प्रभावित ईरान और दक्षिण कोरिया से मॉस्को की यात्रा को लेकर शुक्रवार को नये प्रतिबंधों की घोषणा की। एक बयान में प्रधानमंत्री मिखाइल मिशुस्तिन ने शिक्षा, रोजगार, पर्यटन और पारगमन के लिए रूस की यात्रा करने वाले ईरान के नागरिकों के वीजा पर अस्थायी रोक लगाने की घोषणा की।

एक अलग शासनादेश में दक्षिण कोरिया से रूस आने वाले लोगों पर भी पाबंदियां लगाई गई हैं। इन प्रतिबंधों से आधिकारिक शिष्टमंडलों के सदस्यों को बाहर रखा गया है।

मॉस्को ने संक्रमणों की संख्या में बढ़ोतरी के बीच इटली, ईरान और दक्षिण कोरिया की यात्रा न करने का नागरिकों को बुधवार को परामर्श जारी किया था।
वायरस के प्रकोप से सर्वाधिक प्रभावित चीन के वुहान से कई देशों ने अपने नागरिकों को निकाल लिया है, लेकिन अफ्रीकी देशों के हजारों छात्र अब भी वहीं हैं। इन छात्रों को निकालने के लिए सरकारों से की जा रही अपीलों के बावजूद, कई अफ्रीकी देशों ने कहा है कि उनका वहीं रहना उचित है।

वुहान में 4,000 से अधिक अफ्रीकी छात्रों के होने का अनुमान है। उनमें युगांडा के भी 70 छात्र शामिल हैं। सरकारों का कहना है कि उन्हें घर वापस लाना उप-सहारा अफ्रीका के लिए जोखिम भरा हो सकता है। उल्लेखनीय है कि नाइजीरिया के लागोस शहर में वायरस के पहले मामले की शुक्रवार को पुष्टि हुई।

बोत्सवाना की सरकार ने वुहान में अपने प्रत्येक छात्र को हर महीने 144 डॉलर का भत्ता और भोजन, पानी तथा मास्क मुहैया कराने की बात कही है, लेकिन अनेक छात्र और उनके परिजन इससे संतुष्ट नहीं हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) इस हफ्ते की शुरुआत में आगाह कर चुका है कि अगर घातक कोरोना वायरस का प्रकोप फैलता है तो अफ्रीकी स्वास्थ्य तंत्र इससे निपटने में नाकाम होगा। जापान में कोरोना वायरस से प्रभावित होक्काइदो क्षेत्र ने अपने निवासियों से इस हफ्ते के अंत तक घरों में ही रहने को कहा है। यह उत्तरी इलाका तेजी से फैल रहे प्रकोप को रोकने के लिए संघर्ष कर रहा है। होक्काइदो के गवर्नर नाओमिची सुजुकी ने 19 मार्च तक आपात स्थिति घोषित की है।

सुजुकी ने स्थानीय सरकार के पदाधिकारियों के साथ बैठक में कहा, ल्लमेरा मानना है कि अभूतपूर्व एवं सख्त कदम उठाने जरूरी हैं।–

होक्काइदो क्षेत्र में कोरोना वायरस के संक्रमण से दो लोगों की मौत हो चुकी है और कम से कम 63 मामले सामने आए हैं। जापान के प्रधानमंत्री भशजो आबे ने कोरोना वायरस को लेकर देश भर में स्कूल बंद रखने के अपने आह्वान का शुक्रवार को बचाव किया। देश में वायरस के प्रकोप के चलते पांचवी मौत की पुष्टि हुई है। उन्होंने कहा कि स्कूलों को बंद रखने का फैसला प्रकोप से निपटने के प्रयासों के तहत किया गया है। प्रधानमंत्री भशजो आबे ने कहा कि सरकार को ल्लविशेषज्ञों ने कहा है कि आने वाले एक-दो हफ्ते बहुत महत्त्वपूर्ण रहने वाले हैं।–

उन्होंने संसद में कहा, ल्लहम बच्चों को वायरस का शिकार बनने से रोकना चाहते हैं।–

आबे ने कहा, ल्लहमने यह फैसला किया क्योंकि हम इसे अपनी राजनीतिक जिम्मेदारी मानते हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.