एक नहीं, दो नहीं, हनुमान जी के हुए थे तीन विवाह तो भी कहलाए ब्रह्मचारी

Samachar Jagat | Tuesday, 23 May 2017 07:00:01 AM
Hanuman ji had three marriages

हनुमान जी को बाल ब्रह्मचारी मानकर उनकी पूजा की जाती है, सब यही मानते हैं कि हनुमान जी की शादी नहीं हुई थी लेकिन शास्त्रों में कई जगहों पर ये वर्णन मिलता है कि हनुमान जी की तीन शादियां हुई थीं। आप भी ये जरूर जानना चाहेंगे कि आखिर उनकी शादी कब हुई और कौन थीं उनकी पत्नियां, आइए आपको बताते हैं इसके बारे में....

जानिए! क्यों रखा जाता है ताजा फूलों को घर में

शास्त्रों व लोकमान्यताओं के अनुसार हनुमान जी के तीन विवाह हुए थे। पाराशर संहिता के अनुसार सूर्यदेव से ज्ञान प्राप्त करने के लिए हनुमान जी ने पहला विवाह सूर्यपुत्री सुर्वचला से किया।

पउम चरित के अनुसार जब रावण और वरूण देव का युद्ध हुआ तो वरूण देव की तरफ से हनुमान जी ने रावण से युद्ध किया और रावण के सभी पुत्रों को बंदी बना लिया। इसके बाद रावण ने अपनी दुहिता अनंगकुसुमा का विवाह हनुमान जी से कर दिया।

जानिए! क्यों करना चाहिए अन्नदान

इसके साथ ही वरूण देव हनुमान जी से प्रसन्न हुए और उन्होंने अपनी पुत्री सत्यवती का हाथ हनुमान जी के हाथों में सौंप दिया।

शास्त्रों के अनुसार भले ही परिस्थिति वश हनुमान जी को तीन विवाह करने पड़े लेकिन इसके बाद भी उन्होंने विवाह का सुख न भोगते हुए ब्रह्मचर्य का पालन किया और भगवान राम की सेवा में अपना जीवन व्यतीत कर दिया।

READ MORE :-

एक मंदिर जो हजारों सालों से टिका है एक खंभे पर

जानिए! किस रंग की मिट्टी आपके लिए है शुभ

कछुए की अंगूठी पहनने से होती है धन में बरकत 

 

 

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
रिलेटेड न्यूज़
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.