महावीर जयंती: महावीर स्वामी के जन्म से पहले उनकी माता ने कौन-से शुभ 14 सपने देखे थे?

Samachar Jagat | Wednesday, 13 Apr 2022 09:52:10 AM
14 dreams of mother of Lord Mahavira

जब महाराजा सिद्धार्थ ने महारानी त्रिशला द्वारा देखे गए स्वप्नों की जानकारी स्वप्न देखने वालों को दी तो स्वप्न देखने वालों ने कहा- राजन! महारानी ने मंगल का सपना देखा है। सपने देखने वालों द्वारा सपनों की भविष्य की व्याख्या से भगवान महावीर के भविष्य का पता चला। भगवान महावीर की माता त्रिशला ने नींद में जो 14 स्वप्न देखे - उनके स्वप्न देखने वालों ने भविष्य के निर्देश इस प्रकार दिए हैं-

हाथी - जिस प्रकार शत्रु सेना का नाश करता है, उसी प्रकार यह कर्म रूप शत्रु का नाश करेगा।

वृष- यह बालक संयम का भार उसी प्रकार उठाएगा जैसे वृषभ भार वहन करता है.

केसर सिंह - कामरूपी यार्ड को नष्ट करने में केसर सिंह की तरह ताकत दिखाएगा।

लक्ष्मी - इस बच्चे को अनंत ज्ञान दर्शन रूप लक्ष्मी की प्राप्ति होगी।

माल्यार्पण - सुमनमाला की तरह सभी का प्रिय कल्याण होगा।

चंद्रमा - जैसे चंद्रमा शीतलता प्रदान करता है, वैसे ही यह सभी को शीतलता और सौंदर्य प्रदान करेगा.

सूर्य मिथ्यात्व को दूर कर रत्न को प्रकाशित करेगा।

झंडे - झंडा सभी लोगों तक फैल जाएगा।

कुंभ कलश - संपूर्ण आत्मा के गुणों का धारक होगा।

पद्मा सरोवर - कमलाकर गद्दी पर बैठ कर करेंगे देश।

क्षीर समुद्र की तरह अनंत गहराई का धारक होगा।

देव विमान - कई देवी-देवताओं के पूजनीय होंगे।



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.