Acute Myocarditis : हार्ट पेशेंट के लिए घातक साबित हो रही कोरोना की दूसरी लहर, नए रिसर्च में सामने आए चौंकाने वाले खुलासे, 33 साल तक के युवा भी इससे तोड़ रहे दम

Samachar Jagat | Monday, 10 May 2021 01:27:23 PM
Acute myocarditis: second wave of corona proving fatal to heart patient, startling revelations revealed in new research, youngsters up to 33 years of age are breaking even

लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोना वायरस हार्ट पेशेंट के लिए घातक साबित हो रहा है। ये बात नए रिसर्च में निकलकर सामने आई है।कई हृदयरोग विशेषज्ञों का कहना है कि हृदयरोगियों के लिए ये घातक सिद्ध हो सकता है। साथ ही ये युवाओं को भी अपना निशाना बना सकता है। 

‘हिन्दुस्तान टाइम्स’ को दिए एक साक्षात्कार में हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. नरेश त्रेहान ने बताया कि 15 से 20 फीसदी कोरोना के मामलों में सार्स-कोव-2 वायरस मरीज के हृदय को भी प्रभावित कर रहा है। कोविड-19 के चलते हार्ट अटैक का सामना करने वाले कई मरीजों के न तो हृदयरोगों से जूझने का कोई इतिहास रहा है, न ही उन्हें स्टेंट लगाने की जरूरत पड़ी है और न ही वे कभी बाइपास सर्जरी से गुजरे हैं। 

माना जाता है कि हृदय में संक्रमण पहुंचने पर ज्यादातर मरीज सीने में दर्द की शिकायत करते हैं। कुछ मामलों में तो उनकी जान बचाने में सफलता मिली है, लेकिन कई मरीजों को इतना जबरदस्त दौरा पड़ता है कि हृदय की कार्यक्षमता 10 से 15 फीसदी तक रह जाती है। ऐसे मामलों में उन्हें मौत के मुंह से बचाना नामुमकिन हो जाता है। उन्होंने कहा कि दूसरी लहर से 33 साल तक के युवा भी हार्ट अटैक से मौत के मुंह में समा रहे हैं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.