Guru Pradosh Vrat 2023 : गुरु प्रदोष व्रत करने से होते है ये फायदे , मिलता है ये वरदान

Samachar Jagat | Wednesday, 18 Jan 2023 03:15:41 PM
Guru Pradosh Vrat 2023 : These are the benefits of fasting Guru Pradosh, you get this boon

माघ मास का पहला प्रदोष व्रत 19 जनवरी को रखा जाएगा। यह गुरुवार को है, इसे गुरु प्रदोष व्रत भी कहते है। प्रदोष व्रत भगवान शिव के भक्तों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। अपने नाम के अनुसार ही प्रदोष व्रत सभी दोषों को दूर करने वाला माना गया है।

शास्त्रों के अनुसार भोलेनाथ की पूजा के लिए प्रदोष काल यानी शाम का समय सबसे अच्छा और पवित्र समय बताया गया है, क्योंकि इस समय महादेव कैलाश पर्वत पर डमरू बजाते हुए खुशी से नाचते हैं। प्रदोष व्रत में किए गए उपाय जीवन में सुख, सौभाग्य और समृद्धि लाते हैं।

गुरु प्रदोष व्रत 2023: शुभ मुहूर्त

माघ कृष्ण त्रयोदशी तिथि प्रारंभ- 19 जनवरी 2023 को दोपहर 01 बजकर 18 मिनट

माघ कृष्ण त्रयोदशी तिथि समाप्त- 20 जनवरी 2023 को सुबह 09 बजकर 59 मिनट पर

माघ प्रदोष व्रत पूजा मुहूर्त- शाम 05:49 बजे से रात 08:30 बजे तक

माघ गुरु प्रदोष व्रत 2023: शुभ योग

माघ मास के कृष्ण पक्ष के प्रदोष व्रत के दिन ध्रुव योग बन रहा है, शास्त्रों के अनुसार इस योग में कोई भी भवन आदि बनाने से सफलता मिलती है।

ध्रुव योग - 02 बजकर 47 मिनट से 11 बजकर 04 मिनट तक

गुरु प्रदोष व्रत : उपाय करें

दांपत्य जीवन में शांति- गुरु प्रदोष के दिन पति-पत्नी को मिलकर शुभ मुहूर्त में शाम के समय गुड़ और काले तिल से भोलेनाथ का अभिषेक करना चाहिए।  इससे दांपत्य जीवन में शांति आती है, सारे तनाव दूर होते हैं और पति-पत्नी के बीच प्रेम बना रहता है। माघ मास में तिल का प्रयोग पुण्यदायी माना गया है और शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाने से शनि, राहु और केतु दोष दूर हो जाते हैं। घर में सुख-समृद्धि आती है।

स्वास्थ्य लाभ- प्रदोष व्रत में काले तिल का दान करने से घर की नकारात्मकता दूर होती है और व्यक्ति को गंभीर रोगों से मुक्ति मिलती है। काले तिल का दान करने से शिव और शनि दोनों अति प्रसन्न होते हैं और साधक पर कृपा करते हैं।

वरदान- गुरु प्रदोष व्रत के दिन सुबह एक मुट्ठी काले तिल घर की छत पर रख दें। ऐसी मान्यता है कि जैसे-जैसे पक्षी इन तिलों का सेवन करेंगे वैसे-वैसे जीवन के दुख धीरे-धीरे समाप्त हो जाएंगे। दरिद्रता का नाश होगा। इस उपाय को गुप्त रूप से करें।



 

Copyright @ 2023 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.