Health Tips : लौंग के फायदे और साइड-इफेक्ट्स के बारें में जानें

Samachar Jagat | Saturday, 17 Sep 2022 03:18:45 PM
Health Tips : Know about the benefits and side-effects of cloves

लौंग एक ऐसी सामग्री है जो भारतीय घरों में आसानी से मिल जाती है। एक पॉपुलर मसाला होने से लेकर कई स्वास्थ्य लाभ होने तक, लौंग में एक जड़ी बूटी है। लौंग, लौंग के पेड़ की सूखे फूल की कलियाँ हैं। भोजन में स्वाद बढ़ाने वाले एजेंट के रूप में इसका अधिक प्रयोग किया जाता है और इसमें औषधीय गुण भी होते हैं। लौंग को कच्चा या इससे निकाले गए तेल के रूप में सेवन किया जाए तो इसके कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। हालांकि जरूरत से ज्यादा इस जादुई मसाले का सेवन हानिकारक भी साबित हो सकता है। आइए इसे बेहतर तरीके से जानने के लिए मसाले के कुछ स्वास्थ्य लाभों और दुष्प्रभावों को देखें।

लौंग के स्वास्थ्य लाभ

पोषक तत्वों का भंडार

लौंग में कई महत्वपूर्ण पोषक तत्व शामिल होते हैं जो इसे खाने के स्वाद और पोषण को बढ़ाते हैं। इसमें फाइबर, विटामिन के और मैंगनीज होता है। मैंगनीज एक आवश्यक खनिज है जो मस्तिष्क के समुचित कार्य में मदद करता है और हड्डियों को मजबूत बनाता है।

वजन घटाने में मदद करता है

लौंग में कम कैलोरी और उच्च फाइबर होता है जो हमारे शरीर को अतिरिक्त किलो वजन बढ़ाने से रोकता है। फाइबर पाचन में सहायता करता है जो बदले में शरीर के चयापचय को बढ़ाता है। एक अच्छी चयापचय दर हमें तेजी से और प्रभावी ढंग से अतिरिक्त वजन कम करने में मदद करती है।

दंतो का स्वास्थ्य

लौंग में रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो  बैक्टीरिया को रोकने में मदद करते हैं। इसी वजह से ये ओरल हेल्थ में मददगार साबित होते हैं। इससे दांत दर्द में भी आराम मिलता है। अगर कोई एक लौंग को मुंह में दर्द वाली जगह पर कुछ मिनट के लिए रखते है, तो यह आवश्यक तेल छोड़ता है जिससे दर्द कम हो जाता है। इतना ही नहीं, अगर हर्बल टूथपेस्ट में इस्तेमाल किया जाए तो यह प्लेग और दांतों की सड़न को खत्म करने में मदद कर सकता है।

 अधिक मात्रा में सेवन की जाने वाली हर चीज इसके लाभों को छीन सकती है और इसे स्वास्थ्य के लिए अभिशाप बना सकती है। इसी तरह लौंग का भी अधिक मात्रा में सेवन करने पर समान प्रभाव पड़ता है।

अत्यधिक रक्तस्राव

लौंग में यूजेनॉल नामक एक रसायन होता है जो ब्लड के क्लॉटिंग बनने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है। डॉक्टर द्वारा बताई गई मात्रा से अधिक लौंग के तेल का सेवन करने से ब्लीडिंग डिसऑर्डर या आंतों में ब्लीडिंग हो सकती है।

ब्लड शुगर के लेवल में गिरावट

मधुमेह वाले लोगों के लिए लौंग प्रभावी होती है क्योंकि यह उच्च शर्करा के स्तर को कम करती है। हालांकि, अगर अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है, तो यह इंसुलिन के स्तर में हस्तक्षेप कर सकता है और इसे अत्यधिक नीचे गिरा सकता है। सर्जरी से पहले और बाद में कम से कम दो सप्ताह तक लौंग नहीं खाने की भी सलाह दी जाती है।



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.