'मेरी रगों में मुस्लिम खून, बर्दाश्त नहीं कर सका...', जब पिता सुनील दत्त को संजय ने दिया था जवाब

Samachar Jagat | Friday, 30 Jul 2021 10:25:29 AM
'Muslim blood in my veins, could not tolerate,' when Sanjay replied to father Sunil Dutt

मुंबई: लेखक यासीर उस्मान ने फिल्म अभिनेता संजय दत्त पर एक किताब लिखी है, जिसका नाम है 'संजय दत्त: द क्रेजी अनटोल्ड लव स्टोरी ऑफ बॉलीवुड्स बैड बॉय'। इस किताब का एक हिस्सा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. किताब के इस हिस्से में कहा गया है कि संजय दत्त के पिता सुनील दत्त को यकीन ही नहीं हो रहा था कि उनका बेटा किसी आतंकी गतिविधि में शामिल है। सुनील दत्त जब उनसे मिलने पुलिस मुख्यालय पहुंचे तो संजय दत्त ने अपने पिता को गले लगाया और रोने लगे। दरअसल, सुनील दत्त अपने बेटे के मुंह से सुनना चाहते थे कि मीडिया में जो दिखाया जा रहा है वह गलत है क्योंकि उनका बेटा आतंकवादी नहीं हो सकता।

 

Jahangir married Rajput Jagat Gosain,
converted her to Bilquis Makani.
Had a son Muhammad Khurram (Shah Jahan)

Shah Jahan ordered capital punishment for Hindu men marrying Muslim women.

5000 Hindus in Bhadnor converted to Islam to escape death.

Rajput khoon kahan bacha? https://t.co/0BT1Y7RbYl

— Nitin Gupta (@Nitin_Rivaldo) July 26, 2021

 

लेकिन उस समय संजय दत्त ने स्वीकार किया था कि उनके पास एक असॉल्ट राइफल और कुछ गोला-बारूद था जो उन्हें अनीस इब्राहिम ने दिया था। इससे हैरान होकर सुनील दत्त ने जब यह जानने की कोशिश की कि उन्होंने ऐसा क्यों किया, तो किताब के लेखक के अनुसार संजय दत्त ने कहा था, 'क्योंकि मेरी रगों में मुस्लिम खून है और शहर में जो हो गया है, उसे मैं सहन नहीं कर सका। ' इसी किताब के मुताबिक, फिल्म निर्माता महेश भट्ट ने कहा, ''सुनील दत्त बहुत शर्मिंदा थे. उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था कि उनके बेटे ने क्या कहा और क्या किया.''

हाल ही में गीतकार जावेद अख्तर ने एक ट्वीट में लिखा कि शाहजहां की रगों में राजपूत (75%) खून होने के बाद भी लोग उन्हें 'विदेशी' कहते हैं। किताब के इस पेज को शेयर करते हुए नितिन गुप्ता नाम के यूजर ने लिखा, 'जावेद अख्तर ने अपनी इंडस्ट्री में ऐसा किया है और वह शाहजहां के राजपूत खून का 75% हिस्सा बोल रहे हैं.'



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.