मोबाइल-लैपटॉप से निकलने वाली नीली लाइट समय से पहले आपके चेहरे का नूर छीन सकती है, समय से पहले दिखने लगेंगे बूढ़ा

Samachar Jagat | Monday, 08 Mar 2021 06:43:55 PM
The blue light emanating from the mobile-laptop can take away the clutter of your face before time, you will start seeing premature

इंटरनेट डेस्क। आजकल हमारा सबसे अधिक समय मोबाइल, टीवी, लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के साथ गुजरता है। रात को सोते वक्त भी लोग घंटों मोबाइल का प्रयोग करते हैं। मोबाइल से निकलने वाली ब्लू लाइट आपकी स्किन के लिए बेहद खराब है। जब त्वचा के स्वास्थ्य की बात आती है, तो यूवी विकिरण को सबसे हानिकारक पर्यावरणीय कारकों में से एक माना जाता है।

सूरज के जरिए उत्सर्जित उच्च ऊर्जा पराबैंगनी विकिरण त्वचा की उम्र बढ़ने के सबसे प्रमुख कारणों में से एक है।  कई लोग हमारी त्वचा पर नीले प्रकाश के दुष्प्रभाव के बारे में नहीं जानते हैं। नीली रोशनी दृश्य प्रकाश स्पेक्ट्रम का एक हिस्सा है और सूरज नीली रोशनी का मुख्य स्रोत है। हालांकि, आपके सर्वव्यापी डिजिटल उपकरण, कंप्यूटर स्क्रीन और यहां तक ​​कि एलईडी भी आपको नीली रोशनी की निरंतर धारा में उजागर करते हैं।

खुद का कैसे करें बचाव

ऐसे में सवाल उठता है कि क्या आपको नीली रोशनी के बीच लगातार रहने के बारे में चिंतित होना चाहिए? इससे भी महत्वपूर्ण बात है कि क्या आप अपने प्रभाव से खुद को बचाने के लिए कुछ कर सकते हैं? नीली रोशनी जैसा कि नाम से पता चलता है, दृश्यमान प्रकाश का स्पेक्ट्रम है, जो नीले से बैंगनी श्रेणी में आता है। उच्च ऊर्जा दृश्यमान प्रकाश के रूप में भी जाना जाता है।

नीली रोशनी और आंखों पर इसका बुरा प्रभाव पिछले कुछ समय से जाना जाता है। हालांकि, त्वचा पर इसका नकारात्मक प्रभाव हाल के दिनों में ही प्रमुखता में आया है। साक्ष्य बताते हैं कि नीली रोशनी के लंबे समय तक संपर्क में रहने से त्वचा की कोशिकाओं को नुकसान होता है, त्वचा के अवरोधक कार्य में बाधा उत्पन्न होती है और इससे समय से पहले बुढ़ापा आ सकता है, जैसे कि यूवी विकिरण करता है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.