Vivah Panchami: इस दिन हुई थी भगवान राम की शादी, जानें तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

Samachar Jagat | Thursday, 24 Nov 2022 12:48:42 PM
Vivah Panchami: Lord Rama was married on this day, know date, auspicious time, worship method

मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को भगवान राम ने देवी सीता से विवाह किया था। विवाह पंचमी पर, भगवान राम और देवी सीता के विवाह समारोह को मनाया जाता है। भगवान राम चेतना के प्रतीक हैं और देवी सीता प्रकृति शक्ति की प्रतीक हैं। इसलिए इस दिन का महत्व है, चेतना और प्रकृति के मिलन के कारण। इस बार विवाह पंचमी  28 नवंबर को मनाई जाएगी।

विवाह पंचमी 2022 तिथि और शुभ मुहूर्त

हिन्दू पंचांग के अनुसार इस वर्ष मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की विवाह पंचमी 27 नवंबर 2022 को शाम 04 बजकर 25 मिनट से शुरू होकर 28 नवंबर 2022 को दोपहर 01 बजकर 35 मिनट पर समाप्त होगी।  उड़िया तिथि के कारण 28 नवंबर को विवाह पंचमी मनाई जाएगी।

विवाह पंचमी 2022 शुभ योग

अभिजित मुहूर्त - 11 बजकर 53 मिनट से दोपहर 12 बजकर 36 मिनट तक
अमृत ​​काल - सुबह 05:21 बजे से शाम 05:49 बजे तक रहेगा।
सर्वार्थी सिद्धि योग- सुबह 10 बजकर 29 मिनट से अगले दिन सुबह 06 बजकर 55 मिनट तकर हेगा।
रवि योग - सुबह 10 बजकर 29 मिनट से अगले दिन सुबह 06 बजकर 55 मिनट तक रहेगा। 

विवाह पंचमी 2022 पूजा विधि

सुबह स्नान के बाद भगवान राम के विवाह का संकल्प लें। स्नान कर विवाह कार्यक्रम की शुरुआत करें। भगवान राम और देवी सीता की प्रतिकृति स्थापित करें। भगवान राम को पीले वस्त्र और देवी सीता को लाल वस्त्र अर्पित करें, या तो उनके सामने विवाह संस्कार का पाठ करें या "ॐ जानकीवल्लभाय नमः" का जाप करें। इसके बाद माता सीता और भगवान राम की संधि कराएं।

विवाह पंचमी क्यों खास है?

मनोवांछित विवाह का वरदान मिलता है। वैवाहिक जीवन की परेशानियां भी खत्म होती हैं। इस दिन संयुक्त रूप से भगवान राम और माता सीता की पूजा करने से विवाह में आ रही बाधाओं का नाश होता है। इस दिन बालकांड में भगवान राम और माता सीता के विवाह मुहूर्त का पाठ करना शुभ होता है। इस दिन संपूर्ण रामचरित-मानस का पाठ करने से भी गृहस्थ जीवन सुखमय रहता है।



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.