डोनाल्ड ट्रंप की धमकी के बाद विपक्ष सरकार के साथ खड़ा दिखा

Samachar Jagat | Wednesday, 08 Apr 2020 10:32:30 AM
1182074650363154

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत को धमकी का मामला तूल पकड़ गया है. ट्रंप की चेतावनी से भाजपा सकते में है तो विपक्ष हमलावर. सोशल मीडिया पर भी इसे लेकर बहसें हो रहीं हैं. ट्वीटर पर तो यह टाप पर ट्रेंड भी करने लगा था. कांग्रेस ने तो सरकार पर हमला बोला है, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी व आप ने भी इस पर कड़ा एतराज जताया. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मलेरिया की दवा को लेकर जवाबी कार्रवाई वाले डोनाल्ड ट्रंप के बयान की पृष्ठभूमि में कहा कि सरकार दूसरे देशों की मदद करे, लेकिन भारतीय नागरिकों के लिए जरूरी दवाएं उपलब्ध रहनी चाहिए. उन्होंने ट्रंप पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए यह भी कहा कि मित्रता का मतलब जवाबी कार्रवाई नहीं होता है. राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि मित्रता जवाबी कारवाई नहीं होती. भारत को जरूरत के इस समय में सभी देशों की मदद करनी चाहिए, लेकिन जीवनरक्षक दवाएं भारतीय नागरिकों के लिए उचित मात्रा में पहले उपलब्ध होनी चाहिए. ट्रंप ने भारत से हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन की मांग दोहराते हुए कहा है कि अगर भारत इस दवा की आपूर्ति करता है तो ठीक, वरना हम जवाबी कार्रवाई कर सकते हैं.

अमेरिका में कोरोना वायरस का कहर तेजी से फैल रहा है. इस बीच, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत से कोरोना के मरीजों के इलाज में इस्तेमाल हो रही मलेरिया रोधी दवा हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन की आपूर्ति की मांग करते हुए चेतावनी दी थी कि भारत आपूर्ति नहीं करता है तो हम इसका जवाब देंगे. ट्रंप के इस बयान पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने निशाना साधा है. थरूर ने ट्रंप को जवाब देते हुए अपने ट्वीट में लिखा कि वैश्विक मामलों में दशकों के अपने अनुभव में मैंने किसी राष्ट्राध्यक्ष या सरकार को दूसरे देश की सरकार को इस तरह खुलेआम धमकी देते हुए नहीं सुना. मिस्टर राष्ट्रपति. भारत में जो हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन बनाती है वह हमारी घरेलू आपूर्ति के लिए है. यह आपके लिए आपूर्ति का विषय तब बनेगा जब भारत इस दवा को आपको बेचने का फैसला करता है.

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने ट्वीट किया और कहा कि सरकार को ट्रंप की धमकी से डरना नही चाहिए. मोदी जी देश की 130 करोड़ जनता आपके साथ है. स्वदेशी दवाओं पर पहला हक देशवालों का है. कुशवाहा ने प्रधानमंत्री को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की सलाह मानने को कहा. उन्होंने कहा कि कोरोना की संकट से उबरने में सोनिया गांधी की सलाह समय की जरूरत है. इस पर अमल करना चाहिए.

ट्रंप ने ब्रीफिंग के दौरान वाइट हाउस में कहा कि भारत अमेरिका की अच्छी बातचीत चल रही है और मुझे ऐसा कोई कारण नहीं दिखता कि भारत अमेरिका के दवा के ऑर्डर पर रोक जारी रखेगा. उन्होंने कहा था कि मैंने रविवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की और मैंने कहा था कि अगर आप हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन की आपूर्ति को मंजूरी देते हैं तो हम आपके इस कदम की सराहना करेंगे. अगर वे दवा की आपूर्ति की अनुमति नहीं देते हैं तो भी ठीक है, लेकिन हां, वे हमसे भी इसी तरह की प्रतिक्रिया की उम्मीद रखें.

इस बीच दूसरे देशों में दवाओं के निर्यात को लेकर केंद्र सरकार ने मंगलवार को कहा है कि भारत उन देशों को कोरोना वायरस से बचाव की दवाएं भेजेगा जो इस महामारी के कारण बुरी तर‍ह प्रभावित हैं. विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा कि महामारी के मानवीय पहलुओं के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है. भारत अपने सभी पड़ोसी देशों, जो हमारी क्षमताओं पर निर्भर हैं, को उचित मात्रा में पैरासिटामोल और हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वाइन की आपूर्ति करेगा. हम उन देशों में भी दवाओं की आपूर्ति करेंगे, जो कोरोनावायरस की महामारी से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं.

ट्रंप की धमकी पर टीवी अभिनेत्री कविता कौशिक ने भी टिप्पणी की है. टेलीविजन की दबंग पुलिस अफसर चंद्रमुखी चौटाला यानी कविता कौशिक ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैं कह रही हूं, यह ब्रॉकली समोसा के कारण हुआ है. उन्हें निहारी और कोरमा देना चाहिए था, फिर देखते दोस्ती. कविता कौशिक के इस ट्वीट पर लोग मजेदार प्रतिक्रियी दे रहे हैं. पिछले महीने, भारत ने हाइड्रोक्सीलक्लोरोक्वीन के निर्यात पर रोक लगा दी थी जब ऐसी खबरें आईं कि कोविड-19 मरीजों का इलाज कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों को संक्रमण से बचाने के लिए इस दवा का इस्तेमाल किया जा सकता है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि भारत का रुख हमेशा से यह रहा है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एकजुटता व सहयोग दिखाना चाहिए. इसी नजरिए से हमने अन्य देशों के नागरिकों को उनके देश पहुंचाया है. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विशलेषण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.