राहुल व प्रियंका गांधी ने सरकार से कहा, लॉकडाउन से परेशान मजदूरों-गरीबों की करें मदद

Samachar Jagat | Saturday, 28 Mar 2020 01:37:01 PM
1416299471892210

कोरोना वायरस ने मजदूरों और गरीबों की परेशानी बढ़ा दी है. उनका न सिर्फ रोजगार खत्म हो गया है बल्कि उनके सामने रोजी का संकट भी बढ़ा दिया है. लॉकडाउन की वजह से वे अपने-अपने घरों को भी नहीं लौट पा रहे हैं. बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान से लेकर दूसरे राज्यों के मजदूरों का जत्था पैदल ही अपने घरों को जाता रोज दिख रहा है. रास्ते में उनके सामने परेशानी भी है और पुलिस का खतरा भी. लेकिन वे यह जोखिम उठाने को मजबूर हैं. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने भी इस पर चिंता जताई है. लॉकडाउन की वजह से देश का गरीब और मजदूर तबका सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहा है. स्थिति यह है कि रोज कमा कर खाने वाले परिवार सहित भूखे हैं. भोजन की तलाश में भटक रहे हैं.

कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि लॉकडाउन हमारे देश के गरीब और कमजोर तबके को बर्बाद करके रख देगा. इससे हमारे प्यारे देश भारत को एक बड़ा झटका लगेगा. भारत को सिर्फ स्याह और सफेद में देखना ठीक नहीं है. कोई भी फैसला करते वक्त हमें गहाराई से सोचने की जरूरत है. इस संकट से निपटने के लिए ऐसे नजरिये की जरूरत है जो लोगों के प्रति दया भी रखता हो. अभी भी बहुत देर नहीं हुई है. 

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट के साथ एक वीडियो भी साझा किया है जिसमें एक बच्चा अपनी पीड़ा बताता दिख रहा है. वीडियो में बच्चा बता रहा है कि वह लॉकडाउन के बाद से भूखा है. बच्चे ने बताया कि उसके पिता खाना लेने बाहर जाते हैं तो पुलिस उनको मार के भगा देती है. दूसरी तरफ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर आग्रह किया कि कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए राज्य में गरीबों, मजदूरों और सभी जरूरतमंदों की मदद की जाए र रास्ते में फंसे लोगों के लिए स्कूलों व कॉलेजों को खोला जाए.

योगी को लिखे पत्र में प्रियंका ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में राज्य सरकार के साथ खड़ी है और प्रशासन कांग्रेस कार्यकर्ताओं की सेवा ले सकता है. उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी इस वक्त सरकार का सहयोग करने के लिए पूरी तरह तैयार है. मैंने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे लोगों को कोरोना के बारे में जागरूक करें और उनकी हर संभव मदद करें. कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका ने मुख्यमंत्री को सुझाव दिया कि दिहाड़ी मजदूरों, रेहड़ी-पटरी वालों, निर्माण मजूदरों, बेसहारों, विधवाओं और दिव्यांगों के लिए जो घोषाएं की गई हैं उनका क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए.

उन्होंने मजदूरों के पैदल पलायन का उल्लेख करते हुए कहा कि रास्ते में फंसे मजदूरों को उनके घर भेजने की व्यवस्था की जाए और अगर संख्या ज्यादा है तो उनके रहने के लिए स्कूलों और कॉलेजों को खोल दिया जाए. साधन उपलब्ध होने पर उन्हें भेजा जा सकता है. कांग्रेस महासचिव ने कहा कि चिकित्साकर्मियों और सफाईकर्मियों के लिए सभी स्वास्थ्य सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराए जाएं. उन्होंने किसानों की सहूलियत के लिए उनकी उपज की बिक्री में मदद करने के साथ ही उनके लिए मुआवजे की राशि तत्काल जारी करने की मांग की. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.